ताज़ा खबर
 

दलित एवं आदिवासी अधिकार समूहों का आरोप- ‘मोदी सरकार ने घटाया SC-ST की शिक्षा पर खर्च होने वाला फंड’

पीएचडी और इसके बाद के कोर्सेज के लिए फेलोशिप और स्कॉलरशिप में 2014-15 से लगातार गिरावट आई है। इसी प्रकार से यूजीसी और इग्नू में एससी और एसटी समुदाय के छात्रों के लिए हायर एजुकेशन फंड्स में क्रमश: 23 पर्सेंट और 50 पर्सेंट की गिरावट हुई।

Author नई दिल्ली | July 7, 2019 11:05 AM
narendra modiमोदी सरकार ने एससी एसटी छात्रों की छात्रवृत्ति बजट में की कटौती! (Reuters/file pic )

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा शुक्रवार को पेश किए गए बजट में अनुसूचित जाति (SC) और अनुसूचित जनजाति से ताल्लुक रखने वाले छात्र-छात्राओं के सेकेंडरी और हायर एजुकेशन पर खर्च होने वाले फंड्स में कटौती हुई है। दलित और आदिवासी अधिकारों के लिए काम करने वाले समूहों के आकलन में इस बात का दावा किया गया है।

दलित आर्थिक अधिकार आंदोलन की बीना पलिकल के मुताबिक, एससी स्टूडेंट्स को मैट्रिक के बाद मिलने वाली स्कॉलरशिप के लिए इस साल बजट में 2926 करोड़ रुपये का प्रावधान है, जबकि पिछले साल यह रकम 3 हजार करोड़ रुपये थी। पलिकल के मुताबिक, एसटी स्टूडेंट्स के लिए मैट्रिक के बाद मिलने वाली स्कॉलरशिप के मद में 2018-19 में 1,643 करोड़ रुपये के फंड का प्रावधान था, जो इस साल 1,613 करोड़ रुपये है।

संगठन के मुताबिक, पीएचडी और इसके बाद के कोर्सेज के लिए फेलोशिप और स्कॉलरशिप में 2014-15 से लगातार गिरावट आई है। इसके मुताबिक, एससी के लिए यह रकम 602 करोड़ रुपये से घटकर 283 करोड़ रुपये हो गई जबकि एसटी स्टूडेंट्स के लिए यह 439 करोड़ रुपये से कम होकर 135 करोड़ रुपये हो गई। इसी प्रकार से यूजीसी और इग्नू में एससी और एसटी समुदाय के छात्रों के लिए हायर एजुकेशन फंड्स में क्रमश: 23 पर्सेंट और 50 पर्सेंट की गिरावट हुई।

नैशनल कैंपेन ऑन दलित ह्यूमन राइट्स के मुताबिक, सामाजिक कल्याण और आधिकारिता मंत्रालय के लिए आवंटित फंड में भी कमी आई है। अनुसूचित जाति के विकास में इस्तेमाल होने वाले फंड्स में गिरावट का ट्रेंड ग्रामीण विकास, सूक्ष्म ,लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय, पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय आदि में भी देखने को मिला है। एसटी समुदाय के नजरिए से सबसे खराब हालात सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय और पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय की है। वहीं, आदिवासी मामलों के मंत्रालय में जरा सा ही फंड्स का इजाफा हुआ है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अरुण जेटली के खाली किए बंगले में रहने से कतरा रहे मंत्री, वजह है अजीब
2 वीकेंड पर 15% ज्यादा अकेलापन! ब्रिटेन की मिनिस्टर ऑफ लोनलिनेस बोलीं- समस्या दुनिया भर में
3 पटना में डोसे का मजा लेने लगे राहुल गांधी, फोटो खींचने लगे लोग
ये पढ़ा क्या?
X