नारायण राणे ने दी उद्धव सरकार को धमकी, बोले- एक-एक कर खुलेगी पोल, सब पता किसने करवाया था ‘एसिड अटैक’

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने उद्धव सरकार को धमकी दी है कि वह एक-एक कर पोल खोलने वाले हैं। उन्होंने कहा, मुझे पार्टी के लोगों के बारे में बहुत कुछ पता है।

जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान नारायण राणे। फोटो- उनके ट्विटर हैंडल से

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लेकर थप्पड़ वाला बयान देने के बाद केंद्रीय मंत्री नारायण राणे गिरफ्तार हो गए थे। जमानत मिलने के बाद उन्होंने एक बार फिर से जन आशीर्वाद रैली शुरू कर दी है। अब वह उद्धव ठाकरे पर निशाना साधने में बिल्कुल कसर नहीं छोड़ते। उन्होंने उद्धव सरकार को खुली धमकी देते हुए कहा है कि वह एक-एक कर पोल खोलोंगे। बिना किसी का नाम लिए उन्होंने कहा, ‘मुझे पता है कि किसने अपने भाई की बीवी पर एसिड अटैक करने को कहा था।’

उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने वाली बात के बाद उन्हें मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। जिस दिन वह गिरफ्तार हुए उसी रात उन्हें जमानत भी मिल गई। उन्होंने इसके बाद कहा था कि, उद्धव ठाकरे उन्हें डराने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वह डरने वाले नहीं हैं।

नारायण राणे ने कहा, ‘हमने उनके साथ 39 साल तक काम किया है। मुझे यह भी पता है कि किसने अपने ही भाई की पत्नी पर एसिड अटैक करवाने की बात की थी। ये किस तरह के संस्कार हैं? किसी को एक केंद्रीय मंत्री को गिरफ्तार करवाकर आखिर क्या मिला? मैं उनकी एक-एक कर पोल खोलूंगा।’

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान केंद्रीय मंत्री ने कहा, शिवसेना का एक लड़का वरुण देसाई मेरे घर के बाहर आया था और धमकी दे रहा था। मैं भी चेतावनी देता हूं कि अगली बार आएगा तो वापस नहीं जाएगा। बता दें कि सरदेसाई युवा सेना के नेता हैं। मंगलवार को शिवसेना की यूथ विंग के कार्यकर्ता नारायण राणे के घर के बाहर प्रदर्शन करने पहुंचे थे।

बताते चलें कि नारायण राणे ने भी शिवसेना कार्यकर्ता के तौर पर राजनीतिक सफर की शुरुआत की थी। 1999 में महाराष्ट्र में भाजपा और शिवसेना की सरकार में वह मुख्यमंत्री बने। बाद में 2005 में पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया गया। इसके बाद वह कांग्रेस में शामिल हो गए। 2017 में उन्होंने कांग्रेस को भी अलविदा कह दिया और खुद की महाराष्ट्र स्वाभिमान पक्ष पार्टी बना ली। 2018 में उन्होंने भाजपा को समर्थन देने का ऐलान कर दिया और अक्टूबर 2019 में राज्यसभा भेज दिए गए।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।