ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान में सिख युवक की हत्या, ननकाना साहिब गुरूद्वारे मामले पर भारत ने अपनाया कड़ा रुख, पाकिस्तान से की ये मांग

सिरसा ने ट्वीट में लिखा कि 'पाक के सिख ननकाना साहिब पर हुए हमले से उबरे भी नहीं थे कि पेशावर में सिख एंकर हरमीत सिंह के भाई परविंदर सिंह की सरेआम गोलियों से भून दिया गया।

pakistanपाकिस्तान में सिख युवक परविंदर सिंह की हत्या। (एएनआई इमेज)

बीते शुक्रवार को पाकिस्तान में स्थित सिखों के अहम धर्मस्थल ननकाना साहिब गुरूद्वारा पर उग्र भीड़ द्वारा हमला किए जाने पर भारत सरकार ने कड़ा रुख अपनाया है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने आज एक बयान जारी कर कहा कि ‘भारत, पाकिस्तान के पेशावर में सिख समुदाय के युवक की हत्या की घटना की कड़ी निंदा करता है।’

विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि ‘इसके साथ ही ननकाना साहिब में गुरूद्वारा जनम अस्थान और सिख लड़की के अपहरण और उसके जबरन धर्मांतरण की घटना की भी निंदा करता है। भारत सरकार ने पाकिस्तान सरकार को इस तरह की घटनाएं रोकने और इस दिशा में तुरंत कदम उठाने को कहा है। साथ ही साजिशकर्ताओं को उनके जघन्य कृत्य के लिए सजा दी जाए।’

ननकाना साहिब गुरूद्वारे पर हमले की घटना से लोग उबरे भी नहीं हैं कि इसी बीच पाकिस्तान के पेशावर में एक सिख युवक की हत्या हो गई है। अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने पाकिस्तान में सिख युवक की हत्या से जुड़ा एक वीडियो शेयर कर पाकिस्तान पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट में लिखा कि ‘पाक के सिख ननकाना साहिब पर हुए हमले से उबरे भी नहीं थे कि पेशावर में सिख एंकर हरमीत सिंह के भाई परविंदर सिंह की सरेआम गोलियों से भून दिया गया। यह टारगेट कीलिंग का केस है। पाकिस्तान में सिख और अन्य अल्पसंख्यकों पर हमले किए जा रहे हैं क्योंकि इमरान खान की सरकार इस्लामिक हार्डलाइनर्स को बढ़ावा दे रही है।’

रिपोर्ट्स के अनुसार, 25 वर्षीय सिख युवक का शव चमकाली पुलिस स्टेशन इलाके से बरामद हुआ है। अभी तक हत्यारों के बारे में पता नहीं चल सका है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। मृतक के भाई हरमीत सिंह ने बताया कि उनका भाई मलेशिया में बिजनेस करता था और एक माह पहले ही पाकिस्तान लौटा था। फरवरी में उसकी शादी होने वाली थी और वह पेशावर खरीददारी करने गया था।

बता दें कि शुक्रवार को ननकाना साहिब गुरूद्वारे पर स्थानीय लोगों की गुस्साई भीड़ ने पथराव कर दिया था। बीते दिनों एक सिख महिला के अपहरण और जबरन धर्मांतरण के आरोपी व्यक्ति के परिजनों ने इस गुरूद्वारे पर हुई पत्थरबाजी का नेतृत्व किया। उग्र भीड़ ने गुरूद्वारे का घेराव किया और सिख समुदाय के लोगों को धमकी दी। इसके साथ ही आरोपियों ने ननकाना साहिब का नाम बदलने की भी धमकी दी। जिस वक्त गुरूद्वारे पर पत्थरबाजी की गई , उस वक्त बड़ी संख्या में श्रद्धालु गुरूद्वारे में मौजूद थे, जिनमें कई भारतीय श्रद्धालु भी मौजूद थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अभी-अभी तो सरकार आई है, हमारी जेबें कहां गर्म हुई हैं; उद्धव सरकार में महिला मंत्री का VIDEO वायरल
2 अमित शाह के बयान पर केजरीवाल का पलटवार, कहा- मुझे गालियां देने के सिवा कुछ नहीं किया, सुझाव भी तो दीजिए
3 अखिलेश बोले- पुलिस की गोली से मरे CAA प्रदर्शनकारी, BJP का जवाब- UP में आग लगाने वालों की खैर नहीं
ये पढ़ा क्या ?
X