ताज़ा खबर
 

जिस दुकान में बैठकर कभी नरेंद्र मोदी ने की थी चाय पे चर्चा, उसे नगर निगम ने कर दिया सील

नगर निगम के अनुसार, कई बार चेतावनी देने के बावजूद इन आठ दुकानों ने पार्किंग के लिए पर्याप्‍त जगह नहीं बनाई।

Author अहमदाबाद | August 22, 2016 12:20 PM
टी-स्‍टॉल समेत आठ दुकानों को प्रशासन ने सील कर दिया है। (EXPRESS PHOTO)

गुजरात के अहमदाबाद में जिस जगह नरेंद्र मोदी ने चुनाव प्रचार के दौरान चाय पे चर्चा की थी, उसे सील कर दिया गया है। ‘ट्रैफिक और भीड़’ को वजह बताते हुए अहमदाबाद नगर निगम ने आठ दुकानों को सील कर दिया है। इनमें मशहूर इस्‍कॉन गंठिया भी शामिल है जहां मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान ‘चाय पे चर्चा’ की थी। भाजपा के प्रधानमंत्री उम्‍मीदवार के तौर पर, मोदी एसजी हाइवे के किनारे बनी दुकान के बाहर बैठे और चाय की चुस्कियां ली थी। अब वह नमो टी स्‍टाल के नाम से मशहूर है। इस टी स्‍टाल को भी 5 अगस्‍त को एक अभियाान के तहत ध्‍वस्‍त कर दिया गया है। नगर निगम के अनुसार, कई बार चेतावनी देने के बावजूद इन आठ दुकानों ने पार्किंग के लिए पर्याप्‍त जगह नहीं बनाई, जिससे एसजी हाइवे पर भीड़ बढ़ी और कई एक्‍सीडेंट हुए। हालांकि दुकानदारों का कहना है कि शहर के सबसे पुराने हाई-प्रोफाइल क्‍लब कर्णावती के सदस्‍य सड़क किनारे गाड़ी खड़ी करते थे, जिस वजह से भीड़ होती थी।

इसी कॉम्‍प्लेक्‍स में एक मोटर शोरूम चलाने वाले चेतनभाई पटेल बताते हैं, ”नगर निगम के अधिकारी आए और नमो टी स्‍टाल को ध्‍वस्‍त करके चले गए। हमारे सिक्‍योरिटी गार्ड यहां ट्रैफिक संभालते हैं मगर कर्णावती क्‍लब के रईस और प्रभावशली मेहमान उनकी बात नहीं सुनते और हमारी दुकानों के बाहर गाड़ी पार्क करके चले जाते हैं। हमने 1988 के बाद से सभी लैंड रिकॉर्ड्स नगर निगम को सौंपे हैं, फिर भी हमारी दुकानें अब तक सील है।” इस बारे में पूछे जाने पर न्‍यू वेस्‍ट जोन के डिप्‍टी एस्‍टेट अधिकारी चैतन्‍य शाह ने कहा, ”इस क्षेत्र में दुर्घटनाएं ज्‍यादा होती हैं। 40 फुट की रोड का 70 फीसदी हिस्‍सा आमतौर पर गाड़‍ियां खड़ी रहने की वजह से बंद रहता है। हमने दुकानदारों को उनकी पार्किंग मैनेज करने के लिए कई बार चेतावनी दी। वे दुकानें भी गैरकानूनी हैं क्‍योंकि उनके प्‍लान को अप्रूव नहीं किया गया है। अब वे दुकानें अनिश्चित काल के लिए सील कर दी गई हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X