ताज़ा खबर
 

‘विवादित जगह नमाज पढ़ने कौन जाएगा?’ पूछकर अपनी ही पार्टी के निशाने पर आ गए मुस्लिम बीजेपी नेता, खत्म करना पड़ा भाषण

बुक्कल ने कहा, "कोई खास प्रदर्शन नहीं हुआ। मैं कुछ समझाने की कोशिश कर रहा था और मुझे संगठन के बारे में बोलने के लिए कहा गया था।"

Author October 26, 2018 7:52 AM
बीजेपी एमएलसी बुक्कल नवाब। (एक्सप्रेस फोटो)

भारतीय जनता पार्टी के मुस्लिम नेता बुक्कल नवाब को अपनी ही पार्टी के कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ा। वह गुरुवार को पार्टी के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्हें अपना भाषण उस बीच में ही खत्म करना पड़ा, जब कार्यकर्ता अयोध्या विवाद को लेकर उनकी एक टिप्पणी से नाराज हो गए। इस मीटिंग में केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी समेत कई सीनियर बीजेपी नेता भी मौजूद थे।

पार्टी के अल्पसंख्यक मोर्चे के वर्किंग कमिटी सदस्यों को संबोधित करते हुए नवाब ने कहा था, ‘जब मस्जिद तैयार हो जाएगी तो उसमें नमाज पढ़ने जाएगा कौन? विवादित जगह पर नमाज पढ़ना हराम है…हम मस्जिद की मुखालफत नहीं कर रहे हैं…हम जो सही बात है वो बता रहे हैं…हम मस्जिद का विरोध नहीं कर रहे हैं।’ उनकी इस टिप्पणी पर कार्यकर्ता प्रदर्शन करने लगे। इसके बाद नवाब ने कहा, ‘हम मस्जिद बनवाने की बात कर रहे थे…मंदिर बनवाने की बात कर ही नहीं रहे।’

सूत्रों का कहना है कि इसके बाद सीनियर नेताओं को दखल देनी पड़ी। बाद में नवाब ने कहा, ‘मैं उन मुद्दों को बयान करने की कोशिश कर रहा था, जिनकी वजह से हमें लगातार निशाना बनाया जा रहा है। मैं उन्हें दूसरे शब्दों में समझाने की कोशिश कर रहा था कि अगर विवादित जगह पर मस्जिद बन भी जाती है और वहां नमाज भी पढ़ी जाती है तो इससे कोई मकसद हल नहीं होगा। ऐसा जो करेगा, वो नर्क में जाएगा।’ बता दें कि बुक्कल इससे पहले समाजवादी पार्टी में रह चुके हैं। उन्होंने 2017 विधानसभा चुनाव के बाद बीजेपी जॉइन की थी। इसके बाद, उन्हें उच्च सदन में भेजा गया।

कार्यक्रम के बाद मीडियाकर्मियों से बातचीत में बुक्कल ने कहा, ‘कोई खास प्रदर्शन नहीं हुआ। मैं कुछ समझाने की कोशिश कर रहा था और मुझे संगठन के बारे में बोलने के लिए कहा गया था। इसलिए मैं दूसरे मुद्दों पर भी बोल रहा था। मंदिर अयोध्या में नहीं बनेगा तो क्या पाकिस्तान और अफगानिस्तान में बनेगा? मैं अयोध्या में राम मंदिर का समर्थन करता हूं। 100 पर्सेंट नहीं, बल्कि 1000 पर्सेंट।’ उधर, यह कार्यक्रम कुछ देर रुकने के बाद दोबारा शुरू हो गया। अपने भाषण में केंद्रीय मंत्री नकवी ने दावा किया कि सरकारी नौकरियों में अल्पसंख्यकों की प्रतिशतता में इजाफा हुआ है। इस कार्यक्रम में बीजेपी के राज्य ईकाई के महासचिव सुनील बंसल भी मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X