ताज़ा खबर
 

आपदा में अवसरः कोरोना के कहर के बीच आइसक्रीम विक्रेता बन बैठा डॉक्टर, मरीजों को दाखिल कर लगा रहा था चूना

नागपुर के कामठी इलाके में एक शख्स ने फल और आइसक्रीम बेचते हुए अपना डिस्पेंसरी खोल लिया। आरोपी पिछले पांच सालों से फर्जी डॉक्टर बनकर लोगों का इलाज कर रहा था।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

देशभर में कोरोना मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। कोरोना के बेकाबू होते संक्रमण के सामने आज हर कोई बेबस है। हालांकि इस आपदा की घड़ी में कई ऐसे लोग भी हैं जो इसे अवसर बनाने की जुगत में भिड़े हुए हैं। महाराष्ट्र के नागपुर से पुलिस ने एक ऐसे ही व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जो फलविक्रेता होने के बावजूद फर्जी डॉक्टर बनकर लोगों का इलाज कर रहा था।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक नागपुर के कामठी इलाके में एक शख्स ने फल और आइसक्रीम बेचते हुए अपना डिस्पेंसरी खोल लिया। आरोपी पिछले पांच सालों से फर्जी डॉक्टर बनकर लोगों का इलाज कर रहा था। पुलिस के अनुसार पकड़े गए शख्स का नाम चंदन नरेश  चौधरी है। चंदन पहले फल विक्रेता के बाद टेक्नीशियन बना, उसके बाद वह डॉक्टर बन गया।

आरोपी चंदन चौधरी पिछले पांच साल से ओम नारायण मल्टीपर्पस सोसाइटी के नाम से एक डिस्पेंसरी चलाता है और वह वहां आयुर्वेदिक पद्धति से लोगों का इलाज करता है। पुलिस को थोड़े दिनों से पहले यह सूचना मिली थी कि चंदन नरेश चौधरी नाम का यह शख्स कोरोना संक्रमितों का भी इलाज कर रहा है। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी के डिस्पेंसरी पर छापा मार दिया।

छापा मारने के दौरान जब पुलिस ने चंदन नरेश चौधरी को अपना सर्टिफिकेट दिखाने को कहा तो वह कोई भी सर्टिफिकेट नहीं दिखा सका। हालांकि उसने पुलिस को नैचुरोपैथी का डिप्लोमा सर्टिफिकेट दिखाया। आरोपी चंदन नरेश चौधरी इसी सर्टिफिकेट के सहारे लोगों को झांसे से लेकर उनका इलाज किया करता था। इतना ही नहीं कुछ दिनों से तो वह कोरोना संक्रमित लोगों का भी इलाज कर रहा था।

पुलिस के द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार आरोप चंदन नरेश चौधरी बिहार का रहने वाला है जो करीब 10 साल पहले यहां आया था। पुलिस ने आरोपी फर्जी डॉक्टर चंदन नरेश चौधरी के खिलाफ महाराष्ट्र प्रैक्टिशनर एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। साथ ही पुलिस ने छापेमारी के दौरान आरोपी के डिस्पेंसरी से ऑक्सीजन सिलिंडर, इंजेक्शन सहित कई अन्य जरुरी दवाओं और मेडिकल उपकरणों को भी जब्त कर लिया है।

Next Stories
1 बिहार के बाद अब यूपी के गाजीपुर में गंगा किनारे दिखे अनगिनत शव, दिल्ली में एक माह में उठे 94 सौ जनाजे
2 उत्तराखंडः 3 प्लांट होने के बावजूद सूबे में ऑक्सिजन का टोटा, केंद्र पर बरसा HC, उधर, एमपी में HC ने कैदियों को टेंपरेरी बेल देने को कहा
3 ब्लैक फंगस पर बोले चिकित्सक- ये नाक के जरिये करता है हमला, नाक की सफाई रखने से ही बचाव मुमकिन
ये पढ़ा क्या?
X