ताज़ा खबर
 

Muzafarnagar हिंसा: संजीव बालियान बोले- देवबंद पास में है, पथराव के लिए मदरसों से बच्चों को किसने भेजा

बीजेपी सांसद संजीव बालियान ने कहा कि कारगिल का एक बच्चा भी मुज़फ्फरनगर की हिंसा में भाग लिया था। कहा कि कारगिल का बच्चा यहां कैसे आया और उसे किसने भेजा, यह गंभीर सवाल है।

मुजफ्फरनगरयूपी के मुजफ्फरनगर में हिंसा (प्रतीकात्मक तस्वीर), फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

देशभर में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ चल रहे हिंसक विरोध में शामिल लोगों और उन पर कार्रवाई को लेकर सवाल उठाए जा रहे हैं। कई जगह आंदोलन में छोटे-छोटे बच्चे भी भाग लिए हैं। 20 दिसंबर को यूपी के मुजफ्फरनगर में हुई हिंसा को लेकर बीजेपी सांसद संजीव बालियान ने शुक्रवार को गंभीर आशंका जताई है। उनके मुताबिक उन्हें बताया गया है कि इसमें 12 से 18 वर्ष के कई बच्चे शामिल रहे। उन्होंने पूछा कि इन बच्चों को कौन भड़का रहा है? इनके पीछे किसका हाथ है? उन्होंने संदेह जताया कि पास में ही देवबंद है। इसकी जांच होनी चाहिए।

मुस्लिम नेताओं पर जताया संदेह : मुज़फ्फरनगर जिले में हिंसा पर सांसद संजीव बालियान ने कहा कि इसके पीछे मुस्लिम नेताओं का हाथ भी हो सकता है। कहा कि हिंसा में मदरसों के बच्चे भी पकड़े गए हैं। मीडिया से बात करते हुए कहा कि 12 से 15 साल के नाबालिग बच्चों के साथ- साथ कुछ बच्चे मदरसों के भी गिरफ्तार हुए हैं। कहा कि मदरसों के बच्चे बिना किसी के कहे सड़क पर आकर आंदोलन नहीं कर सकते हैं।

Hindi News Today, 27 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

कहा कारगिल से भी एक बच्चा यहां आया था:  उन्होंने बताया कि कारगिल के सांसद का उनके पास फोन आया था। उन्होंने बताया था कि कारगिल का एक बच्चा भी मुज़फ्फरनगर की हिंसा में भाग लिया था। उन्होंने कहा कि कारगिल का बच्चा यहां कैसे आया और उसे किसने भेजा, यह गंभीर सवाल है। कहा कि मदरसों के बच्चे बाहर सड़क पर निकलकर आंदोलन तभी करेंगे, जब कोई उनको ऐसा करने के लिए भड़का रहा हो।

प्रशासन से कहा नाबालिग बच्चों से नरमी से पेश आएं : सांसद ने बताया, ” मैने प्रशासन से खुद कहा है कि इस मामले में जो भी नाबालिग बच्चे हैं उनके साथ नरमी से पेश आया जाए और उन्हें एक मौका दिया जाए। इसमें उन्हें ना फंसाया जाए। 50 हजार लोग किसके कहने पर बाहर आए। किसी राजनीतिक पार्टी या धार्मिक संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है। अगर कोई लेता तो कोई बात नहीं थी, लेकिन किसी ने कोई जिम्मेदारी नहीं ली है तो इसकी भी जांच होनी चाहिए।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Delhi Assembly Elections पर ऐक्शन में ‘मोदी एंड कंपनी’, BJP की नैया पार लगाने को बनाया है ये प्लान
2 Jharkhand CM Swearing Ceremony: हेमंत सोरेन के शपथग्रहण में दिखेगी विपक्षी एकता की तस्वीर, ताजपोशी में मौजूद रहेंगे ये दिग्गज
3 Economic Slowdown की चपेट में देश, फिर भी 69% भारतीयों की राय- भारत सही दिशा में, पर बेरोजगारी सबसे बड़ी चिंता
IPL 2020: LIVE
X