ताज़ा खबर
 

कसम खुदा की खाते हैं, मंदिर वहीं बनवाएंगे- राम मंदिर के पक्ष में आईं मुस्लिम महिलाएं

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की सह संयोजक ने कहा कि मुस्लिम समुदाय का फर्ज है कि खुशी से राम मंदिर निर्माण में हिंदू भाई-बहनों का सहयोग दें। बैठक में महिलाओं ने कहा कि मुस्लिम पुरुषों को अपना रुख साफ रखना चाहिए। श्रीराम मंदिर देश की सनातनी संस्कृति की पहचान है।

Author November 25, 2018 5:18 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (Photo: Reuters)

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के पक्ष में मुस्लिम महिलाएं भी आगे आई हैं। मेरठ में रविवार को मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की सह संयोजक शाहीन परवेज ने मंदिर के पक्ष में अपनी बात कही है। अपने आवास पर मुस्लिम महिलाओं के साथ हुई बैठक में मंदिर निर्माण का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा,’कसम खुदा की खाते हैं, मंदिर वहीं बनवाएंगे।’ इस दौरान महिलाओं ने वर्तमान स्थिति पर गहन चिंतन किया और देश में एकजुटता बनाए रखने की अपील की।

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की सह संयोजक ने कहा कि मुस्लिम समुदाय का फर्ज है कि खुशी से राम मंदिर निर्माण में हिंदू भाई-बहनों का सहयोग दें। बैठक में महिलाओं ने कहा कि मुस्लिम पुरुषों को अपना रुख साफ रखना चाहिए। श्रीराम मंदिर सनातनी संस्कृति की पहचान है। ऐसे में इसकी पहचान को बरकरार रखना हमारी जिम्मेदारी है।

अयोध्या में राम मंदिर को लेकर एक बार फिर हलचल तेज है। राजनीतिक दल मामले में संभलकर बयानबाजी कर रहे हैं। वहीं, मामले में शिवसेना अपने आक्रामक रुख पर कायम है। रविवार को अयोध्या पहुंचे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि अगर राम मंदिर नहीं बनेगा तो दोबारा बीजेपी की सरकार नहीं बनेगी। लेकिन, राम मंदिर का निर्माण जरूर होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X