ताज़ा खबर
 

एंकर से भिड़ा मुस्लिम पैनलिस्ट, बोला- दलाली करनी है तो मुझे मत बुलाओ, शो से फौरन निकाला बाहर

डिबेट के दौरान एंकर और मुस्लिम पैनलिस्ट की जमकर बहस हुई। बहस के दौरान मुस्लिम पैनलिस्ट ने कुछ ऐसा बोल दिया जिसके बाद उन्हें शो से फौरन निकाल दिया गया।

Author नई दिल्ली | July 18, 2019 10:31 PM
एंकर से भिड़ा मुस्लिम पैनलिस्ट। फोटो: Video Grab Image

तीन तलाक की याचिकाकर्ता इशरत जहां को सामूहिक हनुमान चालीसा के पाठ में शामिल होने पर घर खाली करने और जान से मारने की धमकी मिल रही है। बीते मंगलवार को वह हावड़ा इलाके में हनुमान चालीसा पाठ में शामिल हुई थीं। यह कार्यक्रम भाजपा समर्थकों द्वारा हावड़ा में डोबसन रोड पर एसी मार्केट के सामने आयोजित किया गया था। इशरत को मिल रही धमकी पर आज तक न्यूज चैनल पर लाइव डिबेट हुई। डिबेट के दौरान एंकर और मुस्लिम पैनलिस्ट की जमकर बहस हुई। बहस के दौरान मुस्लिम पैनलिस्ट ने कुछ ऐसा बोल दिया जिसके बाद उन्हें शो से फौरन निकाल दिया गया।

सबसे पहले डिबेट में आईआरएफ के मीडिया संयोजक इलियास शराफुद्दीन और इशरत जहां के बीच बहस हुई। इशरत ने इस दौरान इलियास शराफुद्दीन से कहा कि इस्लाम में दहेज लेना हराम है लेकिन आप लोग इसका विरोध नहीं करते। इशरत बार-बार इस बात को दोहरती रहीं लेकिन इलियास शराफुद्दीन बीच में कुछ न कुछ बोलते रहे। बीच में एंकर अंजना ओम कश्यप कूद पड़ीं। उन्होंने इलियास शराफुद्दीन से कहा जब कोई महिला बोल रही हो तो उन्हें सुनने की आदत डालिए। इतना सुनते ही वह एंकर से बहस करने लगे। एंकर इतनी आगबबूला हुईं की उन्होंने तुरंत इलियास शराफुद्दीन को शो से बाहर जाने के लिए कह दिया।

इस दौरान एंकर ने कहा ‘आपकी दिक्कत ये है कि जब महिलाओं की आवाज बुलंद हो जाती है तो आपके पैरों के नीचे की जमीन खिसकने लगती है। आपसे इशरत जो सवाल पूछ रही हैं उसका जवाब दीजिए इधर-उधर न भटकिए। इस पर इलियास शराफुद्दीन ने कहा ‘अगर सच्चाई सुनना पसंद नहीं और दलाली करनी है तो मुझे शो में मत बुलाया करिए। इस पर एंकर ने कहा ‘आप लोग इस्लाम के नकली ठेकेदार हैं। तीन तलाक के जरिए महिलाओं को शिकार बनाया जाता है तो तब आपकी जुबान नहीं खुलती। आपकी यही जुबान तब भी नहीं खुलती जब अन्य मुद्दों पर महिलाओं का जिक्र होता है। लेकिन इस नकली ठेकेदारी में आप ये तय करेंगे की महिलाएं क्यों डर और खौफ में जीए।’ इसके बाद शराफुद्दीन को शो से बाहर निकाल दिया गया।

बता दें कि इशरत जहां का कहना है कि वह हनुमान चालीसा पाठ कार्यक्रम में हिजाब पहनकर शामिल हुई थी। इस पर कुछ लोगों ने आपत्ति जताई और मुझे इलाके से बाहर करने की धमकी दी है। इशरत का कहना है कि धमकी मिलने के बाद वह डर गई हैं और उन्हें अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर चिंता हो गई है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App