scorecardresearch

मुस्लिम पिता ने कराई हिंदू बेटे की शादी, 16 साल पहले लिया था अनाथ को गोद

गाजीपुर के सेवराई तहसील के रहने वाले शेर खां ने 16 साल पहले पहले पप्पू नाम के एक लड़के को गोद लिया था। पप्पू के मां-बाप का निधन बचपन में ही हो गया था।

marriage, hindu, muslim
प्रतीकात्मक फोटो

जहां एक तरफ देश के कई हिस्सों में आए दिन सांप्रदायिक घटनाएं होती रहती है तो वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग ऐसे भी हैं जो धार्मिक भेदभाव से ऊपर उठकर इंसानियत का परिचय देते हैं। ऐसा ही कुछ उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में देखने को मिला। जहां एक मुस्लिम पिता ने गोद लिए हिंदू बेटे की शादी बेहद ही धूमधाम से कराई। मुस्लिम बुजुर्ग ने 16 साल पहले इस अनाथ युवक को गोद लिया था।

गाजीपुर के सेवराई तहसील के रहने वाले शेर खां ने 16 साल पहले पहले पप्पू नाम के एक लड़के को गोद लिया था। पप्पू के मां-बाप का निधन बचपन में ही हो गया था। जिसके बाद शेर खां ने पप्पू को गोद ले लिया। शेर खां ने ना सिर्फ पप्पू को अच्छी परवरिश दी बल्कि उसकी शादी भी खूब धूमधाम से कराई। 22 मार्च को शादी के दिन शेर खां ने ना सिर्फ अपने बेटे के सिर पर सेहरा सजाया बल्कि गाजे बाजे के साथ बारात लेकर लड़की के घर पर गए। शेर खां के परिवार के लोगों ने भी शादी में जमकर शिरकत की।

अपने गोद लिए हुए बेटे की शादी पर शेर खां ने भी ख़ुशी व्यक्त की. शेर खां के बेटे पप्पू की शादी उतरौली गांव के बहादुर राम की बेटी कश्मीरा से हुई है। शेर खां ने बताया कि पप्पू का अपना कोई सगा नहीं था इसलिए मैंने अपना बेटा समझ कर उसके ही धर्म और उसकी ही बिरादरी में शादी करवा दी। हालांकि अब तक वह युवक अपने पिता शेर खां के साथ ही रहता था। लेकिन अब उसके पिता ने युवक और उसकी पत्नी के लिए एक घर भी बनवा दिया है जहां वह अपनी पत्नी के साथ रहेगा।

शेर खां के परिवार में उनकी पत्नी के अलावा चार बेटे भी हैं। पप्पू शेर खां के चारों बेटे को बड़ा भाई मानता है। बचपन से ही पप्पू को मुस्लिम परिवार में रहने के बावजूद सभी तरह के हिंदू त्यौहार को मनाने की आजादी थी। शेर खां ने अपने और पप्पू के रिश्तों के बीच कभी भी धर्म को नहीं आने दिया।

   

आसपास के इलाकों में इस शादी की खूब चर्चा है। सोशल मीडिया पर शेर खां और पप्पू के रिश्ते को लोग सामाजिक सौहार्द की अनूठी मिशाल बता रहे हैं।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट