ताज़ा खबर
 

बैद्यनाथ मंदिर में पूजा करने पहुंचे मुस्लिम कांग्रेस विधायक, भाजपा सांसद बोले- गिरफ्तार करो

झारखंड के कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने बुधवार को देवघर के प्रसिद्ध बैद्यनाथ धाम मंदिर में पूजा-अर्चना की।

jharkhand, congressझारखंड के कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने देवघर के प्रसिद्ध बैद्यनाथ धाम मंदिर में पूजा-अर्चना की। (Screenshot)।

झारखंड के कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने बुधवार को देवघर के प्रसिद्ध बैद्यनाथ धाम मंदिर में पूजा-अर्चना की। विधायक के ऐसा करने से विवाद पैदा हो गया है। मामले में बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने यह दावा किया है कि मंदिर में गैर-हिंदुओं के प्रवेश की अनुमति नहीं है। निशिकांत दुबे ने अंसारी की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है।

अंसारी ने दावा किया कि वे भगवान शिव का आशीर्वाद लेने के लिए बचपन से ही बैद्यनाथ धाम मंदिर आते रहे हैं। नेता ने कहा, ” बाबा भोलेनाथ के दरबार में हजारों बार गया हूं। लेकिन भगोड़े सांसद की नजर में पहली बार गया हूं। इतिहास पता नहीं ,मां पार्वती और शंकर भगवान जी के मंदिर का गठजोड़ हमारे पूर्वजों के द्वारा बुने धागे से होता आ रहा है। बाबा नगरी मेरी जन्मस्थली है।” अंसारी ने कहा, ‘संकीर्ण मानसिकता से मन दुखी है और बाबा नगरी मेरा घर आंगन है। कोई बाहरी नेता मुझे अपने घर से दूर नहीं कर सकता है। निशिकांत दुबे अपनी ओछी हरकतों से बाज़ आ जाइए। वसुधेव कुटुम्बकम को स्थापित करना मेरा लक्ष्य है। निशिकांत दुबे सुधर जाएँ। क्या उन्हें भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नक़वी और शाहनवाज़ हुसैन नज़र नहीं आते? क्या वह अब सनातन धर्म की व्याख्या बदल देंगे? निशिकांत की धर्म की ओछी राजनीति ने मुझे बहुत आघात पहुंचाया है। बाबा मेरे हैं और मैं बाबा का भक्त हूँ कोई निशिकांत धर्म का ठेकेदार न बने।’

नेता ने कहा, ‘आस्था और ईश्वर से परस्पर प्रेम केवल एक भक्त ही समझ सकता है। सत्ता के लोभियों को केवल तुच्छ राजनीति नज़र आएगी। बाबा भोलेनाथ से मेरा क्या संबंध है यह कोई बाहरी नेता नहीं बताएगा। यह पवित्र नगर मेरे बाबा की है और इस के लिए मुझे किसी निशिकांत या किसी भाजपा नेता से इजाज़त लेने की आवश्यकता नहीं है।’

इससे पहले निशिकांत दुबे ने कहा, ‘आज ग्लानि हुई कि मेरे सांसद रहते ,बाबा बैद्यनाथ मंदिर के गर्भगृह में कांग्रेस विधायक इरफ़ान अंसारी नें पूजा के बहाने ज्योतिर्लिंग को स्पर्शकर अपवित्र करने का प्रयास किया,आस्था के अनुसार मक्का में गैरमुस्लिम का प्रवेश वर्जित है,गर्भगृह में गौमांस भक्षण करने वालों का प्रवेश?’

नेता ने कहा, ‘लानत है चोरी व सीनाज़ोरी करने वाले लोगों पर। कभी मक्का,मदीना या काबा घुसकर बता दो। पुरी के शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद जी व निरंजनी अखाड़े के महामण्डलेश्वर स्वामी कैलाशानंद जी ने फ़ोन किया था मुझे। उन्होंने मुझे कहा कि इससे बड़ा जघन्य अपराध कुछ नहीं हो सकता।’

Next Stories
1 मुस्लिम औरतें भी दे सकती हैं सीधा तलाक- केरल हाईकोर्ट ने कहा- कुरआन भी देता है इजाज़त
2 महाराष्ट्र में कोरोना से हाहाकार, गाड़ी में पड़े रहे पिता, बेटा बोला- बेड नहीं दे सकते तो इंजेक्शन देकर मार दो
3 कोरोना काल में तिहाड़ से परोल पर छोड़े गए कैदी, 3468 हो गए ‘लापता’, जेल प्रशासन परेशान
यह पढ़ा क्या?
X