ताज़ा खबर
 

मुफ़्ती के निशाने पर आए नरेंद्र मोदी के खिलाफ फतवा देने वाले मौलाना, कहा- बरकती जैसों को तो नमाज पढ़वाने का भी हक़ नहीं

कोलकाता की टीपू सुल्तान मस्जिद के शाही इमाम सैयद मोहम्मद नुरुर रहमान बरकती के पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक फतवा जारी करने के बाद शाही इमाम खुद मुश्किल में पड़ गए हैं।

टीपू सुल्तान मस्जिद के शाही इमाम सैयद मोहम्मद नुरुर रहमान बरकती । (Source: Youtube video grab)

कोलकाता की टीपू सुल्तान मस्जिद के शाही इमाम सैयद मोहम्मद नुरुर रहमान बरकती ने बीते दिनों पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक फतवा जारी किया था। वहीं यह फतवा जारी करने के बाद शाही इमाम अब खुद मुश्किल में पड़ गए हैं। शाही इमाम बरकती के खिलाफ मुंबई के मदरसा-दारुल-उलूम अली हसन सुन्नत के मुफ्ती मंजर हसन खान अशरफी मिस्बही मुंबई के एक मुफ्ती ने फतवा जारी कर दिया है। मुफ्ती मंजर हसन खान ने बरकती के फतवे को सिरे से खारिज किया और  उनके नमाज अदा कराने के हक पर भी सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा, “ऐसे बयानों को फतवा नहीं कहा जा सकता है क्योंकि इससे समाज की शांति को खतरा पैदा होता है।

यह उनकी व्यक्तिगत और राजनीतिक राय है और शरीयत इसका समर्थन नहीं करता है।” वहीं मिस्बही ने यह दावा भी किया कि बरकती मुफ्ती नहीं हैं और उन्होंने अपनी राजनीतिक राय को फतवा बताकर उसकी पवित्रता को खत्म करने की कोशिश की है। मिस्बही के बरकती के खिलाफ फतवा जारी करने पर बरकती चुप नहीं रहे और उन्होंने दोबारा पलटवार किया। बरकती ने कहा, “मिस्बही कौन हैं? मैंने इससे पहले कभी उनका नाम नहीं सुना। मुझे नहीं लगता कि उनकी बातों पर किसी को ध्यान देना चाहिए।”

इसके अलावा बरकती अपने विवादित फतवे पर अड़े रहे। उन्होंने कहा कि मैं अपने बयान पर कायम रहूंगा जो मैंने समाज की भलाई के लिए दिया है। गौरतलब है बीते दिनों बरकती ने फतवा जारी करते हुए कहा था कि पीएम मोदी की दाढ़ी काटने वाले को या उन पर काली स्याही फेंकने वाले को 25 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा।

देखें वीडियो (Source: Youtube/Sangbad Pratidin)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App