ताज़ा खबर
 

हिंसा के चलते शहर में कर्फ्यू लगा था, लेबर पेन से जूझ रही महिला को मुस्लिम शख्स ने पहुंचाया अस्पताल

मकबूल पेशे से ऑटो चालक है, जब महिला को कहीं से भी एंबुलेंस नहीं मिली तो वह मकबूल के पास गईं और उनसे मदद मांगी। मौके की गंभीरता को देख मकबूल ने भी कर्फ्यू की परवाह किए बिना महिला को अस्पताल तक पहुंचाया।

तनाव के बीच ऑटो ड्राइवर ने पेश की मिसाल। (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

असम के हैलाकांडी में शुक्रवार को हुई हिंसा के बाद कर्फ्यू लगाया गया है। कर्फ्यू के बीच सामप्रदायिक एकता का उदाहरण देखने को मिला। एक मुस्लिम ऑटो ड्राइवर ने प्रेग्नेंट महिला की मदद की। दरअसल प्रसव पीड़ा झेल रही रूबन दास नाम की हिंदू महिला को एंबुलेंस नहीं मिलने के कारण मुस्लिम शख्स मकबूल ने उनकी मदद की।

मकबूल पेशे से ऑटो चालक है, जब महिला को कहीं से भी एंबुलेंस नहीं मिली तो वह मकबूल के पास गईं और उनसे मदद मांगी। मौके की गंभीरता को देख मकबूल ने भी कर्फ्यू की परवाह किए बिना महिला को अस्पताल तक पहुंचाया। इसके बाद महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया। बच्चे का नाम ‘शांति’ रखा गया है।

वहीं इस बात की सूचना मिलते ही जिला पुलिस अधीक्षक मोहनेश मिश्रा और उपायुक्त कीर्ति जल्ली रूबन के घर पहुंची और उन्हें शुभकामनाएं देते हुए कहा कि उन्हें इस तरह की एकता के और भी उदाहरण की जरूरत है। दोनों मकबूल के घर भी गए और रूबन की मदद करने और तनाव के बीच एक मिसाल पेश करने के लिए शुक्रिया अदा किया।

बता दें कि इस हिंसा में पुलिस की गोलीबारी में एक व्यक्ति की मौत जबकि अन्य 15 लोग घायल हो गए थे। हिंसा के दौरान लोगों ने कारों, बाइकों और दुकानों को आग के हवाले कर दिया था। वहीं प्रशासन द्वारा एतिहातन कर्फ्यू की समयसीमा को भी बढ़ाया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App