ताज़ा खबर
 

‘फालतू बात मत करिए’, लेफ्ट नेता ने कही ऐसी बात कि लाइव टीवी पर आपा खो बैठे बीजेपी प्रवक्ता

सीपीआई नेता ने टीवी न्यूज चैनल के डिबेट कार्यक्रम में ऐसा बयान दिया जिससे बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया भड़क गए।

CPI leader, live debate, murshidabad, murder case, west bengal, mamata benerjee, tmc, bjpबीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया और सीपीआई नेता दिनेश वार्ष्णेय। फोटो:ANI/VideoGrab

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद हत्यकांड पर सीपीआई नेता दिनेश वार्ष्णेय ने केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की ममता सरकार को एक ही थाली का चटापटा करार दिया। उन्होंने कहा कि दोनों (बीजेपी-टीएमसी) एक दूसरे पर आरोप लगात रहते हैं। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष वहां पर खुलेआम कहते हैं कि ‘गर्दन काट दूंगा।’

सीपीआई नेता ने यह बयान एक टीवी न्यूज चैनल के डिबेट कार्यक्रम में दिया। वार्ष्णेय के इतना कहते हीं पैनल में शामिल बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया उनपर भड़क गए। उन्होंने इस दौरान कहा फालतू बात मत कीजिए।

बीजेपी प्रवक्ता ने कहा ‘आप क्यों गलत बात बोल रहे हैं। उन्होंने कब ऐसा कहा? झूठ बोलना बंद कीजिए। ये गुंडे मवाली की भाषा आपकी पार्टी में चलती होगी बीजेपी में नहीं। मुर्शिदाबाद में जो शख्स मारा गया क्या वो आपका भाई नहीं था। क्या वह भारतीय नागरिक नहीं था। बीजेपी आरएसएस कार्यकर्ता मारे जाएं तो आपको कोई दर्द नहीं होता। क्या वे लोग इंसान नहीं हैं? रोहिंग्याओं के लिए आपका पूरा दिल धड़कता है। अगर आप में हिम्मत है तो उठाइए ममता बनर्जी पर सवाल।’

बता दें कि मुर्शिदाबाद में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े स्कूल टीचर, उनकी पत्नी और 8 साल के पुत्र की हत्या का मामला सामने आया था। विजयदशमी के दिन कुछ अज्ञात लोगों ने स्कूल टीचर 35 वर्षीय बंधु प्रकाश पाल और उनकी पत्नी ब्यूटी पाल व पुत्र अंगन पाल की धारदार हथियार से हत्या कर दी थी। बताया जा रहा कि स्कूल टीचर की पत्नी गर्भवती थीं। पुलिस मामले की जांच कर रही है। हालांकि, इस मामले में पुलिस को अभी कोई सुराग नहीं मिल पाया है। बताया गया कि बच्चे की हत्या गला घोंट कर की गई।

वहीं भाजपा ने पश्चिम बंगाल में कानून-व्यवस्था के ‘‘पूरी तरह चरमराने’’ का आरोप लगाते हुए उसके बारे में सूचित करने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से समय मांगा है। पार्टी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।विजयवर्गीय ने इस घटना को लेकर राज्य सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पद पर बने रहने का नैतिक अधिकार खो दिया है और उन्हें तत्काल इस्तीफा देना चाहिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 GOOGLE और MICROSOFT के सीईओ की कुल संपत्ति से भी ज्यादा दौलत! मिलिए टॉप इंडियन बॉसेज से
2 Haryana Elections: मुस्लिम बहुल सीट पर 27 साल की नौक्षम पर BJP ने खेला दांव, लंदन-इटली से की है पढ़ाई
3 Kerala Nirmal Lottery NR-142 Results: 60 लाख रुपए तक का इनाम घोषित, जानें आपका लगा या नहीं?
IPL 2020
X