MP में भी BJP करने वाली है बड़े बदलाव? दो दिन में शाह से दूसरी बार मिले CM शिवराज, लोग बोले- लगता है ‘अच्छे दिन’ आने वाले हैं

मध्य प्रदेश सरकार में फिलहाल मुख्यमंत्री सहित कैबिनेट में कुल 31 सदस्य हैं। जबकि अधिकतम सदस्यों की संख्या 35 हो सकती है। फिलहाल कुल चार पद खाली हैं।

Amit Shah, Shivraj Singh Chouhan
गृह मंत्री अमित शाह ने एक दिन पहले ही मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की थी। (फोटो- ट्विटर/ShivrajChouhan)

भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व अब एक-एक कर सभी राज्यों में पार्टी बीच उभर अंदरुनी मतभेदों को सुलझाने में जुटा है। इसकी शुरुआत उत्तराखंड में सीएम बदलने के साथ हुई। इसके बाद पिछले महीने ही केंद्रीय कैबिनेट में भी बदलाव किया गया। हाल ही में कर्नाटक के मुख्यमंत्री के हटने के बाद वहां भी कैबिनेट फेरबदल की अटकलें लगने लगी हैं। दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश में भी चुनाव से पहले बदलाव किए जाने की चर्चा है। इस बीच मध्य प्रदेश के शिवराज सिंह चौहान कैबिनेट में नए नाम शामिल किए जाने का अनुमान लगने लगा है। दरअसल, गृह मंत्री अमित शाह ने सीएम शिवराज को दो दिनों में दूसरी बार मुलाकात के लिए बुलाया है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दिल्ली में एक दिन पहले भी अमित शाह से मुलाकात की। उन्होंने ट्वीट में इसकी जानकारी देते हुए लिखा था, “अमित शाह जी के निवास में सौजन्य भेंट की और महत्वपूर्ण विषयों पर सकारात्मक चर्चा की।” हालांकि, कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि शाह ने शिवराज सिंह चौहान से कैबिनेट बदलाव की संभावनाओं पर बात की। गौरतलब है कि शुक्रवार को ही केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने भी अमित शाह से मुलाकात की थी, जबकि प्रह्लाद पटेल ने ठीक बाद उमा भारती के साथ चर्चा में शामिल हुए थे।

इन मुलाकातों के बाद से ही यह संभावना जताई जा रही है कि भाजपा सरकार मध्य प्रदेश में बड़ा बदलाव करने वाली है। सीएम शिवराज की चौथी पारी में सीएम के सामने कैबिनेट विस्तार को लेकर लंबे समय से नामों को लेकर उलझन है। मध्य प्रदेश सरकार में फिलहाल मुख्यमंत्री सहित कैबिनेट में कुल 31 सदस्य हैं। जबकि अधिकतम सदस्यों की संख्या 35 हो सकती है। फिलहाल कुल चार पद खाली हैं। ऐसे में अगले कैबिनेट फेरबदल में इन पदों को भरने के साथ कुछ पदों में फेरबदल की बात भी सामने आ रही है।

उत्तराखंड, कर्नाटक में बदले सीएम; अब MP में कैबिनेट बदलाव की चर्चा: बता दें कि उत्तराखंड में एक साल के अंदर दो सीएम बदलने और कर्नाटक में बीएस येदियुरप्पा के सीएम पद छोड़ने और बासवराज बोम्मई के नए मुख्यमंत्री बनने के बाद अब वहां भी कैबिनेट में बदलाव की अटकलें लगने लगी हैं। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में भी चुनावी समीकरणों को ध्यान में रखते हुए कैबिनेट बदलाव की संभावनाएं उठी हैं। इसके अलावा मध्य प्रदेश, त्रिपुरा और कुछ अन्य भाजपा शासित राज्यों में भी पार्टी की अंदरुनी कलह को कम करने के लिए मंत्रीमंडल में बदलाव की चर्चाएं तेज हैं।

सोशल मीडिया यूजर्स ने कसा तंज: शिवराज सिंह चौहान की अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात को लेकर सोशल मीडिया पर भी भरपूर कमेंट्स आए। ट्विटर यूजर @BrajBhu84305380 ने लिखा, “लगता है अच्छे दिन आने वाले हैं।” वहीं जय नाम के एक यूजर ने कहा, “यही बोला न कि उत्तराखण्ड और कर्नाटक के बाद अगला नम्बर मध्य प्रदेश का ही है।” विष्णु दत्त पांडेय नाम के एक यूजर ने कहा, “आपकी सीट तो सेफ है न मामाजी?”

अपडेट