ताज़ा खबर
 

मेरे फोन ले लिए, पंचनामा भी नहीं दे रहे थे- रिपब्‍लिक रिपोर्टर ने सुनाई आपबीती, अर्णब गोस्‍वामी बोले- हम राष्‍ट्रपति के पास जाएंगे

भंडारी ने ये भी बताया कि पुलिस ने उनके फोन जब्त कर लिए और उन्हें पंचनामा भी नहीं दिया जा रहा था। जब उन्होंने पंचनामे की मांग की तब जाकर पुलिस ने पंचनामा भरा।

arnab goswami mumbai police republic bharatअर्नब गोस्वामी ने कहा है कि वह इस मुद्दे को लेकर राष्ट्रपति के पास जाएंगे। (फाइल फोटो)

कंगना रनौत मामले में मुंबई पुलिस पर शनिवार को रिपब्लिक भारत के कंसल्टिंग एडीटर प्रदीप भंडारी को कई घंटे हिरासत में रखने का आरोप लगा है। पुलिस हिरासत से छूटने के बाद प्रदीप भंडारी ने लाइव टीवी पर अर्नब गोस्वामी के साथ बातचीत में आपबीती सुनायी। इस दौरान प्रदीप भंडारी ने कहा कि कोर्ट द्वारा अग्रिम जमानत के बावजूद उन्हें समन के नाम पर न्यायिक हिरासत में रखने की कोशिश की गई।

भंडारी ने बताया कि मुंबई पुलिस ने उनके मोबाइल फोन भी जब्द कर लिए हैं और उनसे कई घंटे की पूछताछ के दौरान उनका शारीरिक उत्पीड़न करने की भी कोशिश की गई। भंडारी के अनुसार, जब उन्होंने पुलिसकर्मियों से उन्हें हिरासत में रखने और उनके फोन जब्त करने के बारे में पूछा तो उन्हें बताया गया कि ऊपर से ऑर्डर हैं। इसके बाद भंडारी ने मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह पर कई आरोप लगाए।

भंडारी ने ये भी बताया कि पुलिस ने उनके फोन जब्त कर लिए और उन्हें पंचनामा भी नहीं दिया जा रहा था। जब उन्होंने पंचनामे की मांग की तब जाकर पुलिस ने पंचनामा भरा। भंडारी ने पुलिस पर अलोकतांत्रिक तरीके से काम करने का आरोप लगाया।

वहीं स्टूडियो में बैठे अर्नब गोस्वामी ने इस मुद्दे को राष्ट्रपति के पास ले जाने की बात कही। अर्नब गोस्वामी ने भी पुलिस कमिश्नर की आलोचना की।

बता दें कि प्रदीप भंडारी पर आरोप है कि जब बीएमसी ने मुंबई में फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के बंगले में तोड़-फोड़ की, उस वक्त कथित तौर पर प्रदीप भंडारी ने वहां लोगों की भीड़ जमा कर सरकारी कामकाज में खलल डालने की कोशिश की। हालांकि इस मामले में प्रदीप भंडारी ने सेशन कोर्ट से अग्रिम जमानत ले ली थी।

जिसके बाद शनिवार को मुंबई पुलिस के खार पुलिस स्टेशन से प्रदीप भंडारी को समन भेजकर बुलाया गया और आरोप है कि पुलिस ने भंडारी को 10 घंटे तक हिरासत में रखा। प्रदीप भंडारी का आरोप है कि यह कोर्ट के आदेश की अवहेलना है।

खार पुलिस स्टेशन के बाहर मौजूद रिपब्लिक टीवी के पत्रकारों ने जब प्रदीप भंडारी के फोन जब्त करने की वजह जाननी चाही तो पुलिस ने उन्हें पुलिस स्टेशन से बाहर जाने को कह दिया लेकिन कोई साफ जवाब नहीं दिया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चीन से तनातनी के बीच नौसेना ने BrahMos सुपरसॉनिक क्रूज मिसाइल का किया परीक्षण सफल, 400Km है मारक क्षमता, जानें खासियतें
2 सर्दी में फिर कहर ढा सकता है COVID-19! बोले Niti Aayog सदस्य- आशंका से नहीं कर सकते इनकार
3 उधर थाने के बाहर पुलिस वाले ने Republic TV के रिपोर्टर्स से कहा- चलो बाहर…, इधर अर्णब ने न्यूजरूम से चेताया- ऐ…ठीक से बात करो, अंगुली नीचे करो
IPL 2020 LIVE
X