ताज़ा खबर
 

बंद केबल कनेक्‍शन के जरिए 6 साल के बच्‍चे की लाश तक पहुंची पुलिस, बीयर की बोतल ने दिया आरोपियाें का सुराग

आरोपियों ने बच्चे को अगवा करने के बाद उसका यौन शोषण किया और फिर हत्‍या के बाद शव को वडाला में भक्ति पार्क के पास गाड़ दिया
Author मुंबई | January 20, 2016 11:50 am
मुंबई पुलिस ने केबल कनेक्‍शन के सहारे 70 दिन पहले लापता हुए छह साल के बच्‍चे का शव बरामद किया आ और फिर बीयर की बोतल के सहारे आरोपियों को पकड़ा।

मुंबई पुलिस ने केबल कनेक्‍शन के सहारे 70 दिन पहले लापता हुए छह साल के बच्‍चे का शव बरामद किया आ और फिर बीयर की बोतल के सहारे आरोपियों को पकड़ा। बच्‍चे का शव ईस्‍टर्न फ्रीवे के पास गड़ा हुआ था। आरोपियों ने बच्चे को अगवा करने के बाद उसका यौन शोषण किया और फिर हत्‍या के बाद शव को वडाला में भक्ति पार्क के पास गाड़ दिया। लड़के के पिता ने बताया कि, 13 अक्‍टूबर को वह घर से निकला था। लड़के को ढूंढ़ने की काफी कोशिश के बाद पुलिस ने 24 दिसंबर को हत्‍या का मामला दर्ज कर जांच शुरु की।

इससे पहले 23 जनवरी को दो तकनीकी कर्मचारी फोन केबल को ठीक करने के लिए फ्रीवे की एक कोटर में गए थे। वहां पर उन्‍हें एक छोटा कंकाल और लाल हाफ पैंट नजर आई थी। दूसरे दिन सुबह उन्‍होंने पुलिस को सूचना दी। शाम को पुलिस लड़के के घर पहुंची और उन्‍हें फ्रीवे ले गई। लड़के के पिता ने बताया कि, ‘हमें घटनास्‍थल पर ले जाया गया। वहां पर कंकाल को देखकर मुझे आशंका हुई कि यह मेरे बेटे का हो सकता है। लाल हाफ पैंट देखने के बाद मुझे विश्‍वास हो गया।’ सियोन अस्‍पताल के डॉक्‍टर्स ने मौके पर ही पोस्‍टमार्टम किया। डॉक्‍टर राजेश डेरे ने बताया कि सिर पर चोट मौत का कारण हो सकती है। मौके से पुलिस ने बीयर बोतल, कुछ बीड़ी के टुकड़े और एक टूटी टाइल बरामद की।

पुलिस ने बीयर बोतल का अपना अहम सुराग बनाया और इसके जरिए आरोपियों की तलाश शुरु की। पुलिस ने वडाला स्थित शराब की दुकान पर आने वाले लोगों पर नजर रखना शुरु किया। कुछ दिन बाद पुलिस ने कृष्‍णनारायण यादव, तौसिफ अली और मोहम्‍मद अली को पकड़ा। आठ दिन की कड़ी पूछताछ के बाद तीनों ने गुनाह कबूल लिया। उन्‍हें 16 जनवरी को गिरफ्तार किया गया। इस मामले में चौथे आरोपी को अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है क्‍योंकि वह अभी टीबी के चलते बीमार है। पुलिस अब फो‍रेंसिक रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App