ताज़ा खबर
 

कोरोना में कुंभः PM के आग्रह बाद CM बोले- संत समाज सहयोग दे; मुंबई की मेयर बोलीं- मेला से लौटने वाले ‘प्रसाद’ के रूप में बांटेंगे COVID-19

कोरोनावायरस महामारी की वजह से महाराष्ट्र में पहली ही 30 अप्रैल तक जनता कर्फ्यू लगाया जा चुका है, हालांकि इसके बावजूद मुंबई और पुणे में हर दिन कई राज्यों से ज्यादा केस मिल रहे।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र मुंबई | Updated: April 17, 2021 1:42 PM
Tirath Singh Rawat, Kishori Pednekarउत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत और मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर।

भारत में कोरोना के बढ़ते केसों के बीच अब तक कई बड़ी हस्तियां उत्तराखंड के हरिद्वार में चल रहे कुंभ मेले को लेकर सवाल उठा चुकी हैं। आज ही पीएम नरेंद्र मोदी ने भी महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरी महाराज से कुंभ को प्रतीकात्मक तौर पर मनाने की अपील की। इसके बाद उत्तराखंड सीएम तीरथ सिंह रावत ने भी संतों से कोरोना केसों को रोकने में मदद की अपील की। दूसरी तरफ मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर का कुंभ में गए श्रद्धालुओं को लेकर बयान आ गया है। उन्होंने कहा है कि हरिद्वार के कुंभ से लौटने वाले लोग कोरोनावायरस प्रसाद की तरह बांटेंगे।

क्या बोले तीरथ सिंह रावत?: उत्तराखंड सीएम ने ट्विटर पर लिखा, “प्रधानमंत्री जी के अनुरोध से स्वयं को जोड़ते हुए मेरी सभी संत समाज और श्रद्धालुओं से प्रार्थना है कि प्रधानमंत्री जी की प्रार्थना के अनुरूप कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में सहयोग दें। हरिद्वार कुंभ में दो शाही स्नान हो चुके हैं। संत समाज और आमजन की सुरक्षा हेतु सरकार प्रतिबद्ध है।”

क्या बोलीं मुंबई मेयर?: मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा, “जो भी कुंभ मेले से अपने राज्यों को लौट रहे हैं, वे कोरोनावायरस प्रसाद की तरह बांटेंगे।” पेडनेकर ने कहा कि इन सभी लोगों को उनके राज्यों में अपने खर्च से क्वारैंटाइन कर देना चाहिए। मुंबई में भी हम कुंभ से लौटने वाले लोगों को क्वारैंटाइन करने पर विचार कर रहे हैं।

पूर्ण लॉकडाउन लगाने पर विचार: पेडनेकर ने आगे कहा, “मौजूदा स्थिति में लोगों के बर्ताव को देखते हुए लगता है कि मुंबई में पूर्ण लॉकडाउन जरूरी है। उन्होंने कहा कि 95 फीसदी मुंबईकर कोरोनावायरस गाइडलाइंस का पालन कर रहे हैं, लेकिन बाकी 5 फीसदी लोग न तो प्रतिबंधों को मान रहे हैं और दूसरों के लिए भी परेशानी पैदा कर रहे हैं।” इसी के साथ उन्होंने शहर में पूर्ण लॉकडाउन लगाने की वकालत की।

क्या हैं कोरोना से मुंबई में हालात?: बता दें कि महाराष्ट्र में शुक्रवार को कोरोना वायरस के 63,729 नए मामले सामने आए, जो अभी तक एक दिन में सर्वाधिक मामले हैं। वहीं, राजधानी मुंबई में संक्रमण के 8803 नए मामले सामने आए हैं और 53 लोगों की मौत हुई है। इससे संक्रमितों की कुल संख्या 5,62,207 और मृतकों की कुल संख्या 12,250 हो गई है। मुंबई में मौजूदा समय में 84 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हैं। यहां संक्रमण के खतरे को लेकर मुंबई एयरपोर्ट का एक टर्मिनल T1  भी 21 अप्रैल से बंद कर दिया जाएगा, सभी विमानों का ऑपरेशन मुंबई में टर्मिनल टू से किया जाएगा।

Next Stories
1 अंबानी के घर के बाहर सुरक्षा व्यवस्था से परेशान मॉर्निंग वॉकर, पड़ोस के इलाकों तक फैली नाराजगी
ये पढ़ा क्या?
X