ताज़ा खबर
 

यदि मोदी बुलाते तो बता देता दादरी काण्ड के साजिशकर्ता तीन भाजपाईयों के नाम : मुलायम सिंह यादव

मुलायम सिंह यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश का माहौल बिगाड़ने में जिन लोगों ने साजिश रची वे उनका नाम जानते हैं। वे तीन हैं और उनका ताल्लुक भारतीय जनता पार्टी से है।

समाजवादी पार्टी के मुखिया मुखिया मुलायम सिंह यादव। (पीटीआई फाइल फोटो)

समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने आज भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला बोला। उन्होंने दादरी काण्ड का जिक्र करते हुए कहा कि मैं शुरू से कह रहा हूं कि इस काण्ड की साजिश भारतीय जनता पार्टी के तीन नेताओं ने रची। वे इसमें शामिल थे। मैंने संसद में भी कई मर्तबा इस बारे में अपनी बात रखी। प्रधानमंत्री से वक्त भी मांगा। यदि नरेन्द्र मोदी ने उन्हें समय दे दिया होता तो वे उन्हें उन तीन भाजपा नेताओं के नाम बता देते जो प्रदेश का माहौल खराब करने की घटनाओं में शामिल थे।

समाजवादी पार्टी के प्रदेश मुख्यालय पर आयोजित युवा सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए मुलायम सिंह यादव ने केन्द्र सरकार पर आरोप लगाये कि उसने जनता से किया गया कोई भी वादा अब तक पूरा नहीं किया। दादरी काण्ड का एक बार फिर जिक्र करते हुए मुलायम सिंह यादव ने युवा कार्यकर्ताओं से कहा कि उत्तर प्रदेश का माहौल बिगाड़ने में जिन लोगों ने साजिश रची वे उनका नाम जानते हैं। वे तीन हैं और उनका ताल्लुक भारतीय जनता पार्टी से है। कार्यक्रम में मौजूद कार्यकर्ताओं को अपने भाषण के दौरान अनुशासन में रहने का पाठ पढ़ा रहे मुलायम सिंह यादव ने कहा कि वर्ष 2012 में प्रदेश में जब पूर्ण बहुमत की सरकार बनने की बारी आई तो लोगों ने उनसे मुख्यमंत्री का पद संभालने का अनुरोध किया। लेकिन उन्होंने अखिलेश यादव को यह मौका दिया। मुलायम ने कहा कि इसकी बड़ी वजह यह थी कि वे यह चाहते थे कि अखिलेश मुख्यमंत्री बनें और मुलायम जनता के बीच रहकर सरकार की गलतियों पर पैनी निगाह रखें।

Read Alsoमुलायम सिंह बोले- पैसा बनाने में लगे अखिलेश के आधे मंत्री, डकैत भी अच्‍छा काम करते हैं

मुलायम सिंह यादव ने कहा कि हमारी सरकार ने प्रदेश की जनता से घोषणापत्र के माध्यम से जो भी वादे किये थे, उन्हें पूरा किया। जबकि बीते दो सालों में केन्द्र सरकार ने देश की जनता से किया हुआ एक भी वादा पूरा नहीं किया। न गरीबी दूर हुई न ही देश में रोजगार के अवसर ही सृजित हुए। केन्द्र सरकार ने जनता के हितों को ध्यान में रखकर अब तक एक भी ऐसा काम नहीं किया जिससे गरीबों को राहत मिल सके। रोटी दाल खाकर पौष्टिकता हासिल करने वाले देश के गरीबों की थाली से अरहर की दाल नदारत हो गई। आज आलम यह है कि देश के 65 प्रतिशत गरीब की थाली से दाल नदारत हो चुकी है।

UP की और खबरों के लिए क्लिक करें 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App