मुलायम से टकराने वाले आइपीएस पर बलात्कार का मामला दर्ज - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मुलायम से टकराने वाले आइपीएस पर बलात्कार का मामला दर्ज

समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव के खिलाफ धमकाने का मुकदमा दर्ज करने की तहरीर देने वाले वरिष्ठ आइपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर पर...

Author July 13, 2015 8:53 AM
आइपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने मुलायम सिंह यादव पर धमकाने का आरोप लगाया है।

समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव के खिलाफ धमकाने का मुकदमा दर्ज करने की तहरीर देने वाले वरिष्ठ आइपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर पर एक महिला ने शनिवार रात बलात्कार का मामला दर्ज कराया। ठाकुर ने इसे सपा मुखिया का ‘रिटर्न गिफ्ट’ करार देते हुए कहा कि जिन आरोपों में मुकदमा दर्ज हुआ है उन्हें पुलिस अदालत में लिखित जवाब के जरिए खारिज कर चुकी थी, तो आखिर उन्हीं आरोपों के आधार पर मुकदमा कैसे दर्ज हो गया।

गोमतीनगर थाना प्रभारी सैयद मोहम्मद अब्बास ने रविवार को बताया कि गाजियाबाद की निवासी एक महिला ने पुलिस महानिरीक्षक (नागर सुरक्षा) अमिताभ ठाकुर के खिलाफ धारा 376 (बलात्कार), 504 (अपमानित करने) और 506 (धमकाने) के तहत शनिवार रात मुकदमा दर्ज कराया। उन्होंने बताया कि ठाकुर की पत्नी सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर को भी मामले में सह-अभियुक्त बनाया गया है। उन पर जुर्म में अपने पति का साथ देने का आरोप है।

अब्बास ने बताया कि शिकायतकर्ता महिला ने आरोप लगाया है कि पिछले साल नवंबर में नूतन गाजियाबाद आई थीं जहां मुलाकात के दौरान उन्होंने उसे नौकरी दिलाने के लिए लखनऊ बुलाया था। महिला का इल्जाम है कि 31 दिसंबर की रात को वह अपने पति के साथ नूतन के लखनऊ स्थित घर गई थी। नूतन ने उसे ठाकुर के कमरे में साक्षात्कार के लिए भेजा था, जहां उन्होंने उससे बलात्कार किया था।

आइपीएस अफसर ठाकुर ने सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के खिलाफ टेलीफोन पर धमकी देने का मुकदमा दर्ज करवाने के लिए शनिवार को हजरतगंज कोतवाली में तहरीर दी थी। उन्होंने यादव से जान का खतरा होना भी बताया था। हालांकि अभी तक प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है।

ठाकुर ने अपने खिलाफ मुकदमा दर्ज होने पर कहा, ‘मेरी निगाह में यह सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव का रिटर्न गिफ्ट है। चूंकि मैंने उनकी धमकी भरी बातों को सार्वजनिक करने और कोतवाली में तहरीर देने की हिमाकत की’।

उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला उनकी पत्नी नूतन ठाकुर के दर्ज कराए गए एक मुकदमे में अभियुक्त है। जहां तक बलात्कार के आरोप का सवाल है तो पुलिस करीब एक माह में मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी और हाई कोर्ट के लखनऊ पीठ में लिखित में दे चुकी थी कि जांच में वे आरोप फर्जी पाए गए हैं, लिहाजा इसमें मुकदमा नहीं हो सकता। ठाकुर ने कहा कि जब पुलिस लिखित में उन आरोपों को खारिज कर चुकी थी, तो आखिर उन्हीं इल्जामात की बुनियाद पर मुकदमा कैसे दर्ज हो गया।

मामले में समाजवादी पार्टी ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी का कहना है कि कुंठित मानसिकता से ग्रस्त लोग सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर बेबुनियाद आरोप लगाने में संकोच नहीं कर रहे हैं। यह खेद और क्षोभ की बात है कि कुछ बौने कद के नेता और अधिकारी मुलायम सिंह यादव के बारे में अनर्गल प्रलाप करने की हिमाकत करने लगे हैं। उन्हें अपने पद के दायित्व और विभागीय कामकाज निपटाने से ज्यादा सोशल मीडिया पर बयानबाजी करने का नया रोग लग गया है।

ऐसे अधिकारी अपनी सेवा नियमावली का भी उल्लंघन कर रहे हैं। उन्हें प्रशासकीय गरिमा व अनुशासन का ख्याल नहीं रह गया है। जिन अधिकारियों को राजनीति करनी हो, वे अपनी नौकरी छोड़कर बाकायदा राजनीति में ही उतर आएं। प्रशासन का अंग होते हुए नेतागीरी करना कतई स्वीकार्य नहीं हो सकता है। वहीं अमिताभ और नूतन ठाकुर ने कहा कि सोमवार को वे खुद को धमकी देने की रिपोर्ट न दर्ज होने की शिकायत हाई कोर्ट से करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App