ताज़ा खबर
 

टीएमसी में वापसी के बाद गृह मंत्रालय को मुकुल रॉय का ख़त, बोले- वापस ले लें सुरक्षा

घर वापसी करने के बाद तृणमूल कांग्रेस के नेता मुकुल रॉय ने केंद्रीय सुरक्षा वापस लेने के लिए गृह मंत्रालय को एक पत्र लिखा।

मुकुल रॉय फिर से तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। (फोटो – पीटीआई)

घर वापसी करने के बाद तृणमूल कांग्रेस के नेता मुकुल रॉय ने केंद्रीय सुरक्षा वापस लेने के लिए गृह मंत्रालय को एक पत्र लिखा। लेकिन अभी तक गृह मंत्रालय से उनके इस अनुरोध का कोई जवाब नहीं आया है। जानकारी के लिए बता दें कि टीएमसी छोड़कर बीजेपी में आए मुकुल रॉय को मार्च में केंद्र सरकार ने वाई प्लस सिक्यॉरिटी दी थी। जिसके बाद बंगाल चुनाव से पहले उनकी सुरक्षा बढ़ाते हुए जेड श्रेणी में कर दी गई थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्होंने गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर कहा है कि उन्हें जो जेड प्लस सुरक्षा दी गई है वह वापस ले ली जाए। हालांकि गृह मंत्रालय ने अभी तक उनके पत्र का कोई जवाब नहीं दिया है। अब मुकुल रॉय और उनके बेटे सुभ्रांशु रॉय ने भाजपा को झटका देते हुए तृणमूल कांग्रेस में वापसी की है। मुकुल राय और उनके बेटे ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और टीएमसी के राष्ट्रीय सचिव अभिषेक बनर्जी की मौजूदगी में टीएमसी में शामिल हो गए। मुकुल रॉय और उनके बेटे का पार्टी में स्वागत करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा के और नेता टीएमसी में शामिल होंगे। साथ ही उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि जो लोग पैसे के लालच में पार्टी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे उन्हें टीएमसी में शामिल नहीं किया जाएगा।

हाई कोर्ट से बोले सीरम के अदार पूनावाला, कभी नहीं मांगी Z+ सुरक्षा: भारतीय सीरम इंस्टीट्यूट के सीओ अदार पूनावाला ने बॉम्बे हाई कोर्ट को जानकारी देते हुए बताया कि उन्होंने जेड प्लस सुरक्षा के लिए कभी भी अनुरोध नहीं किया था। बता दें कि वकील दत्ता माने ने बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका दायर करते हुए कहा था कि कोविड-19 की वैक्सीन की आपूर्ति करने के लिए अदार पूनावाला को धमकाया गया था। इस ओर ध्यान केंद्रित करते हुए अदार पूनावाला को जेड प्लस सिक्योरिटी मुहैया कराई जाए। जस्टिस एसएस शिंदे और जस्टिस एनजे जमादार की पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही थी।

इस मामले में अदालत ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा कि एक व्यक्ति के लिए सुरक्षा मांगी गई है। हो सकता है कि उस व्यक्ति को इस याचिका की जानकारी भी ना हो। यह निजी मामले हैं। तब क्या होगा यदि अदार पूनावाला कहते हैं कि उन्हें किसी भी प्रकार की सुरक्षा नहीं चाहिए। वह डरे हुए नहीं है। हम लोगों की बात के आधार पर आदेश नहीं जारी कर सकते हैं।

IMA बोला स्वास्थ्य कर्मियों की सुरक्षा सुनिश्चित करे केंद्र: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने शनिवार को केंद्र सरकार से कहा कि यह आपकी जिम्मेदारी है कि आप स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की है कि डॉक्टरों और नर्सों पर हो रहे हमले के खिलाफ कड़ा कानून बनाया जाए।

IMA के अध्यक्ष जेए जयलाल ने कहा कि IMA 18 जून को ‘सेव द सेवियर’ के नारे के साथ हेल्थकेयर पेशेवरों पर हो रहे हमले के खिलाफ स्वास्थ्य कर्मियों के विरोध का नेतृत्व करेगा। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि कोई भी अस्पताल बंद नहीं होगा। डॉक्टर काला बैज, काला मास्क या काली शर्ट पहनकर विरोध करेंगे।

Next Stories
1 जनसंख्या विवादः खाली मुस्लिम पैदा कर रहे बच्चे? लालू के माशाल्लाह कितने बच्चे हैं…दुआ देता हूं और फलें-फूले- बोले AIMIM प्रवक्ता
2 कश्मीर में 370 बहाल करने की बात पर दिग्विजय सिंह का भाजपा को जवाब, कहा- भ्रम का शिकार हैं, मोदी-शाह को हटाने को तैयार कांग्रेस
3 12 करोड़ की फीस ले “सीता” बनेंगी करीना कपूर खान, ट्विटर पर होने लगा तगड़ा बहिष्कार, कंगना का फोटो शेयर कर बोले लोग- सिर्फ वो हैं सही उम्मीदवार
ये पढ़ा क्या?
X