ताज़ा खबर
 

मुकेश अंबानी के छोटे बेटे को बड़ी जिम्मेदारी, ग्रीन एनर्जी कारोबार के लिए उतारी गई दो कंपनियों के बनाए गए निदेशक, जानें- अब तक क्या कर रहे थे काम

अनंत अंबानी को कथित तौर पर रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर और रिलायंस न्यू सोलर एनर्जी के निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है।

अनंत अंबानी को कथित तौर पर रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर और रिलायंस न्यू सोलर एनर्जी के निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है। इन नई सोलर कंपनियां को दो सप्ताह पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड द्वारा स्थापित किया गया था। इस नियुक्ति के साथ, रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) के अध्यक्ष मुकेश अंबानी के छोटे बेटे अनंत अंबानी पारिवारिक व्यवसाय में अपनी भूमिका निभाते दिखेंगे।

मुकेश अंबानी ने 24 जून को अपनी वार्षिक शेयरधारक बैठक में अगले तीन वर्षों में 75,000 करोड़ रुपये के नियोजित निवेश के साथ स्वच्छ ऊर्जा व्यवसाय में कंपनी के प्रवेश की घोषणा की थी। इससे पहले फरवरी में, 26 वर्षीय अनंत को रिलायंस O2C के निदेशक के रूप में शामिल किया गया था और उससे एक साल पहले, उन्हें Jio प्लेटफ़ॉर्म के बोर्ड में नियुक्त किया गया था। हालांकि, 64 वर्षीय मुकेश अंबानी ने अभी तक आरआईएल में उत्तराधिकारी के बारे में बात नहीं की है। लेकिन निवेशकों के मन में सवाल है कि मुकेश अंबानी के बाद कौन?

मालूम हो कि 2002 में आरआईएल के संस्थापक धीरूभाई अंबानी के निधन के बाद, कंपनी ने मुकेश और उनके भाई अनिल अंबानी के बीच उत्तराधिकार को लेकर लंबे समय तक विवाद देखा था। धीरूभाई ने कोई वसीयत नहीं छोड़ी थी और पारिवारिक व्यवसाय को विभाजित करना पड़ा था, मुकेश को आरआईएल (तेल शोधन और पेट्रोकेमिकल्स) मिला और अनिल ने समझौते के हिस्से के रूप में ऊर्जा, वित्त और दूरसंचार इकाइयों का अधिग्रहण किया था।

अनंत के बड़े भाई-बहन, ईशा और आकाश जियो प्लेटफॉर्म्स के अलावा, रिलायंस रिटेल वेंचर्स के बोर्ड में हैं। Jio प्लेटफॉर्म और रिलायंस रिटेल वेंचर्स दोनों ने निवेश में अरबों डॉलर को आकर्षित किया था। वे अपने डिजिटल और ई-कॉमर्स का विस्तार करने में मदद करने के लिए Google, फेसबुक, सिल्वर लेक और सऊदी अरब के सार्वजनिक निवेश कोष जैसे वैश्विक नामों को बोर्ड में लेकर आए थे।

अनंत की नवीनतम बोर्ड नियुक्तियों के साथ, तीनों बच्चों का अब आरआईएल के प्रमुख व्यवसायों में प्रतिनिधित्व है। हाल ही में रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स यूनिट को रिलायंस ओ2सी से अलग करने के बाद, आरआईएल टाटा समूह के विविध व्यवसायों की होल्डिंग कंपनी टाटा संस के समान दिखती है।

रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर और रिलायंस न्यू सोलर एनर्जी के अलावा, आरआईएल ने जून से पांच अन्य संस्थाओं, रिलायंस न्यू एनर्जी स्टोरेज, रिलायंस सोलर प्रोजेक्ट्स, रिलायंस स्टोरेज, रिलायंस न्यू एनर्जी कार्बन फाइबर और रिलायंस न्यू एनर्जी हाइड्रोजन इलेक्ट्रोलिसिस, को शामिल किया है।

Next Stories
1 TMC में शामिल हुए प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी, बहन शर्मिष्ठा ने फैसले को बताया दुखद
2 “चुनाव में तड़पता रहा पर बाहर न आ पाया”, लालू के मन का मलाल
3 महाराष्ट्र विस से 1 साल के लिए 12 भाजपा MLA निलंबित, पीठासीन अधिकारी से बदतमीजी का जुड़ा है केस
ये पढ़ा क्या?
X