ताज़ा खबर
 

Mukesh Ambani के बंगले पर तैनात CRPF कमांडों की मौत, गलती से चल गई थी राइफल से गोली

Mukesh Ambani: वीआईपी सुरक्षा की शीर्ष 'जेड +' श्रेणी के तहत मुकेश अंबानी की सुरक्षा का काम केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) को सौंपा गया है। उनकी पत्नी नीता अंबानी को भी बल की ‘वाई’ श्रेणी के तहत सुरक्षा प्राप्त है।

Author मुंबई | Updated: January 24, 2020 9:51 AM
प्रतीकात्मक चित्र फोटो- इंडियन एक्सप्रेस

Businessman Mukesh Ambani: उद्योगपति मुकेश अंबानी के बंगले के बाहर तैनात एक 31 वर्षीय सीआरपीएफ (CRPF) कमांडो की गलती से बंदूक चलने से मौत हो गई। मृतक की पहचान गुजरात के जूनागढ़ जिले के रहने वाले बोटारा डी रामभाई के रूप में हुई है। यह घटना बुधवार शाम करीब 7 बजे अंबानी के 27 मंजिला बंगले ”एंटीलिया” के बाहर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की सुरक्षा चौकी पर हुई।

महाराष्ट्र पुलिस का बयान: पुलिस उपायुक्त राजीव जैन ने कहा, ‘‘यह आकस्मिक गोली चलने से हुआ है। यह आत्महत्या का मामला नहीं लगता।’’ अधिकारियों ने बताया कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि बकोत्रा लड़खड़ा कर गिर गया जिससे उसकी राइफल से गोली चल गई। उसके सीने में दो गोली लगी। उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां देर रात इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

Hindi News Live Hindi Samachar 24 January 2020:देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

अंबानी की सुरक्षा में था तैनात: CRPF जवान गुजरात के जूनागढ़ जिले का रहने वाला था और 2014 में बल में शामिल हुआ था। वीआईपी सुरक्षा की शीर्ष ”जेड +” श्रेणी के तहत मुकेश अंबानी की सुरक्षा का काम केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) को सौंपा गया है। उनकी पत्नी नीता अंबानी को भी बल की ‘वाई’ श्रेणी के तहत सुरक्षा प्राप्त है। गौरतलब है इस घटना के बाद अंबानी की सुरक्षा व्यवस्था पर कड़ी निगरानी बरती जा रही है। फिलहाल इस बारे में उच्च अधिकारियों ने कोई बयान नहीं दिया है।

परिवार को सौंपा गया शव: नगर पुलिस ने बताया कि गामदेवी पुलिस थाने में हादसे में मौत का मामला दर्ज किया गया है और आगे की जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम के बाद उसका शव उनके परिवार को सौंप दिया गया है।

Next Stories
1 गुजरात: बेटे को ईसाई बनाने के लिए हिन्दू मां पर केस, आठ साल बाद हुई कार्रवाई
2 सुभाष चंद्र बोस के पौत्र ने BJP को चेताया? कहा- CAA पर ऐसा चलता रहा तो पार्टी में बने रहने पर सोचना होगा
3 बापू को भूली सरकार: एक साल पहले राजनाथ सिंह ने किया था उद्घाटन, मीडिया में हो हल्ला के बाद लगी महात्मा गांधी की तस्वीर
ये पढ़ा क्या?
X