ताज़ा खबर
 

रिटायरमेंट के बाद देश-सेवा! महेंद्र सिंह धोनी आर्मी से चाहते हैं सियाचिन में पोस्टिंग: रिपोर्ट

धोनी कई मौकों पर सेना के प्रति अपना सम्मान और प्यार भी जता चुके हैं। बीते साल जब धोनी को भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान के लिए पद्मभूषण सम्मान से सम्मानित किया गया तो उन्होंने सैन्य अधिकारी की ड्रेस में ही पद्म भूषण सम्मान ग्रहण किया था।

एमएस धोनी!(file [pic)

हालिया विश्व कप के बाद भारत के दिग्गज खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी के संन्यास की चर्चाएं चल रही हैं। हालांकि अभी तक सिर्फ चर्चाएं हैं और इस बारे में आधिकारिक तौर पर कोई पुष्टि नहीं हुई है। इसी बीच एक खबर आयी है कि एमएस धोनी रिटायरमेंट के बाद देश-सेवा करना चाहते हैं। इसके लिए वह बतौर सैनिक दुनिया के सबसे दुर्गम इलाकों में शुमार सियाचिन में पोस्टिंग चाहते हैं! दरअसल एबीपी न्यूज ने धोनी के एक दोस्त के हवाले से यह खबर चलायी है।

खबर के अनुसार, धोनी के दोस्त का कहना है कि माही की ख्वाहिश है कि उन्हें कुछ महीनों के लिए सियाचिन में पोस्टिंग मिले। धोनी देश की सेवा करना चाहते हैं, जैसे सैनिक करते हैं। बताया जा रहा है कि धोनी जल्द ही सेना से संपर्क कर अपनी इच्छा जाहिर कर सकते हैं। एमएस धोनी भारतीय सेना की टेरिटोरियल आर्मी में लेफ्टिनेंट कर्नल के मानद पद पर तैनात हैं। धोनी ने बाकायदा पैराट्रुपर की ट्रेनिंग भी ली है।

धोनी कई मौकों पर सेना के प्रति अपना सम्मान और प्यार भी जता चुके हैं। बीते साल जब धोनी को भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान के लिए पद्मभूषण सम्मान से सम्मानित किया गया तो उन्होंने सैन्य अधिकारी की ड्रेस में ही पद्म भूषण सम्मान ग्रहण किया था। उल्लेखनीय है कि धोनी टेस्ट क्रिकेट से काफी समय पहले ही संन्यास ले चुके हैं और उनकी उम्र को देखते हुए कयास लगाए जा रहे हैं कि धोनी हालिया विश्वकप के बाद वनडे क्रिकेट से भी जल्द संन्यास ले लेंगे।

हालिया विश्व कप के एक-दो मैचों में धोनी को उनकी धीमी बल्लेबाजी के लिए भी आलोचना झेलनी पड़ी थी और उनके संन्यास लेने की खबरों ने जोर पकड़ लिया था। हालांकि बड़ी संख्या में उनके प्रशंसक अभी भी धोनी से संन्यास ना लेने की अपील कर रहे हैं। अभी तक साफ नहीं है कि धोनी क्या वाकई क्रिकेट से संन्यास ले रहे हैं या फिर वह अभी कुछ समय तक और क्रिकेट खेलना चाहते हैं!

Next Stories
1 Karnataka Political Crisis Updates: येदियुरप्पा बोले- गुरुवार तक करेंगे इंतजार, हमारे पास संख्याबल मौजूद
2 नेहरू थे पर्वत तो मोदी हैं छछून्दर का बनाया मिट्टी का ढेर, हिंदी ने गिराया सदन में बहस का स्तर- सांसद की टिप्पणी
3 IRCTC Indian Railways: ‘रेल नीर’ की कमी, अफसरों ने उठाया यह कदम
ये पढ़ा क्या?
X