scorecardresearch

मेरे दादा हिंदू थे, मैं मुसलमान हूं- बीच डिबेट में इतिहासकार पर भड़क कर बोले तसलीम रहमानी, बताई गर्व की बात

एमपीसीआई प्रमुख तसलीम रहमानी ने एक टीवी डिबेट में कहा, “मुझे गर्व है कि मेरे दादा ने न कोई मंदिर तोड़ा न मस्जिद। उन्होंने अपना धर्म बदलना मुनासिब समझा और बदल दिया।”

Tasleem Rahmani|MPCI chief Tasleem Rahmani|MPCI chief
टीवी डिबेट के दौरान भड़के तसलीम रहमानी (Photo Credit- facebook/ Tasleem Rehmani )

एमपीसीआई के अध्यक्ष तसलीम रहमानी ने मंगलवार (10 मई, 2022) को कहा कि उनके दादा हिंदू थे, वे मसुलमान हैं और उन्हें इस पर गर्व है। उन्होंने कहा कि मेरे दादा ने एक अच्छा काम किया ना कोई मंदिर तोड़ा और ना ही कोई मस्जिद तोड़ी, उन्होंने अपने धर्म को बदलना मुनासिब समझा, वो बदल दिया। उन्होंने ये बात उस वक्त कही जब टीवी चैनल “आज तक” पर ज्ञानवापी मस्जिद और कुतुबमीनार समेत राष्ट्रीय धरोहरों को लेकर हो रही राजनीति पर एक डिबेट चल रही थी।

इस डिबेट में इतिहासकार दिनेश कपूर भी उपस्थित थे, जिनकी बात पर एमपीसीआई प्रमुख भड़क गए। कुतुब मीनार में पूजा करने की अनुमति की मांग को लेकर दिनेश कपूर बुधवार (11 मई, 2022) को एक याचिका दायर करने जा रहे हैं। इसे लेकर दिनेश कपूर ने कहा, मेरा एक सवाल है जो सारे मुसलमान कहते हैं कि ये मुल्क आपके बाप का ही नहीं, हमारे बाप का भी है। उन्होंने तसलीम रहमानी से सवाल करते हुए कहा कि आपको गुस्सा नहीं आता कि जो आक्रांत, लुटेरे विदेश से आए आपके मुल्क को लूटकर, बर्बाद करके चले गए। जिन्ना के दादा भी हिंदू थे अगर इतिहास देखें तो हो सकता है आपके दादा भी हों।

इस पर तसलीम रहमानी भड़क गए और उन्होंने कहा, “मेरे दादा हिंदू थे, मैं मुसलमान हूं। मुझे गर्व है उन्होंने अच्छा काम किया। मुझे इस पर गर्व है, आप कौन होते हैं मुझसे ये पूछने वाले कि आपके पूर्वज फलाने थे तो आप फलाने क्यों हैं?” हालांकि दिनेश कपूर ने रहमानी से कहा कि उनका ये मतलब नहीं था, लेकिन एमपीसीआई प्रमुख ने उनकी बात नहीं सुनी और वे गुस्से में बोलते रहे।

गौरतलब है कि कुतुब मीनार परिसर में स्थित कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद के ढांचे में लगी मूर्तियों को हटाने की मांग जोर पकड़ने लगी है। दरअसल, यहां गणेश की दो मूर्तियां उल्टी लगी हैं, जिन्हें लेकर हिंदू संगठनों में काफी नाराजगी जताई है। उनका कहना है कि इस तरह हिंदू समुदाय के लोगों की भावनाएं आहत होती हैं।

इसके साथ ही कुतुब मीनार का नाम विष्णु स्तंभ करने की भी मांग उठ रही है। इस बीच मंगलवार (10 मई, 2022) को हनुमान चालीसा का पाठ करने हिंदू संगठन के कई नेता कुतुब मीनार पहुंचे थे, जिन्हें दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उधर, बनारस में ज्ञानवापी मस्जिद और मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि से सटी शाही मस्जिद को हटाने को लेकर भी विवाद चल रहा है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट