ताज़ा खबर
 

कांग्रेस नेता दिग्विजय पर गृहमंत्री का कटाक्ष: कहा- जिनकी उम्र मंदिर की सीढ़ियां चढ़ने की, वे बैरिकेड पर चढ़ रहे

गृहमंत्री ने कहा कि कांग्रेस की स्थिति का अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि 75 साल के उम्रदराज नेता सड़कें पर हैं। ऐसा लगता है कि एमपी कांग्रेस में युवा नेताओं का टोटा हो गया है। उन्होंने कहा कि बुजुर्गों के नेता दिग्विजय-कमलनाथ और युवाओं के नेता जयवर्द्धन-नकुलनाथ, बाकी कांग्रेस अनाथ।

एमपी के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (फोटोः ट्विटर @JantaKaReporter)

कांग्रेस नेता दिग्विजय ने 75 की उम्र में जिस जोशोखरोश के साथ रविवार को भोपाल में प्रदर्शन किया वो बीजेपी को रास नहीं आया है। एमपी के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कटाक्ष किया कि जिनकी उम्र मंदिर की सीढ़ियां चढ़ने की है, वे बैरिकेड पर चढ़ रहे हैं।

गृहमंत्री ने कहा कि कांग्रेस की स्थिति का अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि 75 साल के उम्रदराज नेता सड़कें पर हैं। ऐसा लगता है कि एमपी कांग्रेस में युवा नेताओं का टोटा हो गया है। उन्होंने कहा कि बुजुर्गों के नेता दिग्विजय-कमलनाथ और युवाओं के नेता जयवर्द्धन-नकुलनाथ, बाकी कांग्रेस अनाथ। उन्होंने कहा कि ये नेता जनता को दिखा रहे हैं कि कोरोना के विश्राम के बाद कांग्रेस कुछ कर रही है। असलियत में ये महज नाटकबाजी है।

दरअसल, भोपाल में रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस ने गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया के एक पार्क की जमीन संघ से जुड़े संगठन लघु उद्योग भारती को आवंटित किए जाने के विरोध में प्रदर्शन किया था। गृहमंत्री ने कहा कि यह प्रदर्शन चंद कार्यकर्ताओं को साथ लेकर किया था, क्योंकि जनता इनके साथ नहीं है। जनता इन लोगों की असलियत समझ चुकी है।

इस मामले में पुलिस ने दिग्विजय समेत 8 कांग्रेस नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया है। प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने नाकाबंदी कर दी थी। यहां दिग्विजय सिंह ने बैरिकेड पर चढ़ने की कोशिश की तो पुलिस ने वॉटर कैनन से पानी छोड़कर रोक दिया था। दिग्विजय सिंह के बैरिकेड पर चढ़ने की कोशिशों को सोशल मीडिया पर भी लोगों ने खासा पसंद किया था।

कोरोना से हुई मौतों पर गृह मंत्री ने कहा कि उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जिंदा लोगों की चिंता नहीं की। राहुल गांधी और कमलनाथ एक बार भी अस्पताल नहीं गए। उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरासर लोगों को बरगलाने की कोशिश कर रहे हैं। पहले कह रहे थे कि वार्ड अध्यक्षों से जानकारी जुटाएंगे। अब कह रहे हैं कि स्थानीय निकाय चुनाव में टिकट उसे देंगे जो कोविड से मरने वालों का आंकड़ा एकत्र करेगा। ये जनता को बेवकूफ बनाने में लगे हैं।

Next Stories
1 यूपीः नई जनसंख्या नीति से VHP को दिक्कत! कहा- एक बच्चे वाले नियम में फेरबदल की जरूरत
2 चुनाव से पहले पूर्व नौकरशाहों का ओपन लेटर, लगाया आरोप- यूपी में शासन पूरी तरह से फेल
3 सरकार के पास दो माह का वक्त है, बातचीत कर ले, नहीं तो ट्रैक्टर लाल किले का रास्ता भी जानते हैं…बोले टिकैत
ये पढ़ा क्या ?
X