ताज़ा खबर
 

रोहित की मां राधिका वेमुला का आरोप- इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने नहीं दिया मुआवजा

मुस्लिम लीग के नेताओं ने राधिका वेमुला से वादा किया था कि वह उनके परिवार को नया घर बनाने के लिए 20 लाख रुपये देंगे। ये वादा उस वक्त किया गया जब मुस्लिम स्टूडेंट्स फेडरेशन और अंबेडकर स्टूडेंट्स एसोसिएशन के प्रतिनिधि उनसे मिलने के लिए आए थे।

Author Updated: June 18, 2018 4:36 PM
आत्‍महत्‍या करने वाले छात्र रोहित वेमुला की मां (FILE)

हैदराबाद विश्वविद्यालय के शोध छात्र स्व. रोहित वेमुला की मां राधिका वेमुला ने भारतीय यूनियन मुस्लिम लीग पर गंभीर आरोप लगाए हैं। राधिका वेमुला का आरोप है कि लीग के नेताओं ने रोहित की मौत के बाद उन्हें वादा किया था कि वे उन्हें रहने के लिए घर देंगे। लेकिन रोहित की मौत के दो साल होने के बाद भी उन्होंने अपना वादा पूरा नहीं किया है। राधिका वेमुला ने बताया कि रोहित ने हॉस्टल के कमरे में खुद को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। मुस्लिम लीग के नेताओं ने राधिका वेमुला से वादा किया था कि वह उनके परिवार को नया घर बनाने के लिए 20 लाख रुपये देंगे। ये वादा उस वक्त किया गया था जब मुस्लिम स्टूडेंट्स फेडरेशन और अंबेडकर स्टूडेंट्स एसोसिएशन के प्रतिनिधि उनसे मिलने के लिए आए थे। रोहित भी अंबेडकर स्टूडेंट्स एसोसिएशन का सदस्य था। उस वक्त राधिका वेमुला और उनका परिवार किराए के छोटे से मकान में रह रहा था। उनके लिए बड़े मकान मिलने का वादा किसी सपने के सच होने जैसा था।

Rohith Vemula, Rohith Vemula death, HRD Ministry Vemula, Hyderabad University, Rohith Vemula News, Rohith Vemula latest news रोहित वेमुला ने 17 जनवरी 2016 को सुसाइड किया था। (फाइल फोटो)

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, राधिका वेमुला का मकान बनाने के लिए कोप्पूरावुरू में जमीन देखने का दावा किया गया था। ये जगह विजयवाड़ा और गुंटूर के बीच में पड़ती है। रोहित वेमुला के निधन के दो साल बाद भी अभी तक वादे पूरे नहीं किए जा सके हैं। राधिका वेमुला ने पत्रकारों से कहा,”जब रोहित मरा था। मैं वेलिवाड़ा (जहां रोहित ने अपने आखिरी दिन बिताए थे।) में रो रही थी। मुझे नहीं पता था, मेरे पास अंजान लोग आ रहे थे और मुझे सांत्वना दे रहे थे। इसी वक्त पार्टी के कुछ सदस्य केरल से आए और मुझसे कहा कि उन्होंने सुना है कि हम बेहद गरीब हैं।”

गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवाणी, प्रकाश आंबेडकर, प्रशांत डोंथा, मौलाना अब्दुल हामिद अजहरी, उमर खालिद, उल्का महाजन, सोनी सूरी के साथ भीमा कोरेगांव में राधिका वेमुला। Express Photo by Pavan Khengre.

राजनीतिक बढ़त के लिए किया इस्तेमाल: राधिका वेमुला ने बताया,”एक महीने के भीतर ही वह लोग हमें केरल ले गए। वहां पर उन्होंने हमें बड़ी रैलियों में बुलवाया, जहां 30 से 40 हजार लोग मौजूद थे। उन्होंने हमसे वादा किया कि वे लोग हमें 20 लाख रुपये देंगे और हमारे लिए नया घर बनवा देंगे।” राधिका वेमुला का आरोप है कि मुस्लिम लीग ने उन्हें मुख्य अतिथि के रूप में कई रैलियों में बुलाकर अच्छी खासी राजनीतिक बढ़त हासिल की है। सभी राज्यों में सबसे ज्यादा मैंने केरल की यात्रा की है। मुस्लिम लीग की केरल युवा शाखा का महासचिव सीके सुबैर मुझे हमेशा कहा करता था कि उन रैलियों में और भी अत्याचारों से सताए हुए लोग होंगे, जिनसे बात करने के लिए मुझे ले जाया जा रहा है।

आज तक नहीं मिला चेक: राधिका वेमुला ने ये भी कहा,”वह केरल में एक रैली में शामिल होने के लिए जा रही थीं। उसी वक्त उन्हें खबर मिली कि उनकी बहू को बच्चा हुआ है। मैंने लौटने के बारे में सोचा, लेकिन उन्होंने मुझसे कहा कि रैली आयोजित की जा चुकी है और 15 लाख रुपये का चेक तो बस मेज पर साइन किया हुआ ही रखा है। जिसे वह मुझे तुरंत ही दे देंगे। ये वादा वह मुझसे पिछले दो साल से करते रहे, मैं आज भी उस चेक की उम्मीद लगाए बैठी हूं।”

राधिका वेमुला ने मुस्लिम लीग पर वादा खिलाफी का आरोप लगाया है। फोटो- Facebook

मैंने आवाज दी, वह नहीं आया: हालांकि, राधिका ने दावा किया,”सुबैर उनका भाषण खत्म होते ही डायस से तुरंत नीचे उतर गया और उनके दो बार आवाज देने के बाद भी पलटकर नहीं आया। बाद में उसके साथियों ने हमें भरोसा दिलवाया कि वह मुझे एयरपोर्ट पर मिलने के लिए आएगा। हम उसका इंतजार ही करते रह गए लेकिन वह नहीं आया। मेरा सिर्फ इतना ही सपना है कि मैं रोहित के नाम से एक ट्रस्ट शुरू कर सकूं, ताकि उसके जैसे पिछड़ी जाति के बच्चों को कोचिंग दे सकूं। लेकिन इसके लिए मुझे पैसे की जरूरत है।”

फोटो खिंचवाकर थमाया बोगस चेक: राधिका कहती हैं कि एक बार मुस्लिम लीग के कई नेता गुंटूर में हमारे घर आए और सफेद रंग के बड़े चेक के साथ फोटो खिंचवाई। इस चेक में 25 लाख बड़े अक्षरों में लिखा हुआ था। बाद में मुझे पता चला कि वे केरल चले गए और दावा कर गए कि मुझे 25 लाख रुपये मिले हैं। जबकि असल में मुझे कुछ नहीं मिला था।”

नहीं देना था तो झूठ क्यों बोला: राधिका वेमुला ने आगे बताया,”कई महिला संगठनों ने जब मुस्लिम लीग पर दबाव डाला तब उन्होंने हमें कुरियर से ढाई लाख रुपये के दो चेक भिजवाए, जिनमें से एक बाउंस हो गया। अगर वह हमें नहीं वादा किया हुआ पैसा नहीं देना चाहते तो साफ मना कर दें, हमें परेशान क्यों कर रहे हैं? इस संबंध में मुस्लिम लीग के नेता सुबैर का कहना है कि वेमुला परिवार को भेजा गया चेक लिखने की त्रुटि के कारण हुआ था। हमने उन्हें अपार्टमेंट खरीदने के लिए दूसरा चेक भेजा था। जो उन्होंने भुना लिया है। हम अपने वादे पर अभी भी अडिग हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अरुण जेटली की दो टूक- तेल पर एक्‍साइज ड्यूटी नहीं घटाएंगे, लोग ईमानदारी से टैक्‍स दें
2 “काम अधूरा, एक मौका मोदी सरकार, काम पूरा होने का”, बीजेपी ऐसे मांग सकती है 2019 में वोट
3 पीएम नरेंद्र मोदी की महत्‍वाकांक्षी योजना पर डॉक्‍टरों ने उठाए सवाल, सफलता पर जताया संदेह
जस्‍ट नाउ
X