ताज़ा खबर
 

35 रुपये के पेट्रोल पर सरकार ठोंक रही 40 रुपये का टैक्स-कमीशन, इस नाते तेल में लगी ‘आग’

भारत में भले ही पेट्रोल के दाम आसमान छू रहे हों मगर पड़ोसी देशों में ऐसा बिल्कुल नहीं है। चीन को छोड़कर अन्य सभी पड़ोसी देशों में पेट्रोल काफी सस्ते हैं। वजह कि इन देशों में भारत की तुलना में पेट्रोल पर टैक्स कम लगाया जाता है।

Author नई दिल्ली | May 23, 2018 2:01 PM
प्रतीकात्मक फोटो।

देश में पेट्रोल की कीमतें पिछले पांच साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गईं हैं। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत रविवार (20 मई) को 76.24 रुपये तो मुंबई में रिकॉर्ड 84.40 रुपये के स्तर पर पहुंच गई। कर्नाटक चुनाव के चलते कुछ समय तक तेल कंपनियों ने दाम नहीं बढाए थे, मगर चुनाव खत्म होने के बाद कीमतें बढ़ा दी गईं। देश के हर शहर में पेट्रोल-डीजल के रेट अलग-अलग हैं। क्योंकि हर राज्य अपने स्तर से शुल्क वसूलते हैं। पड़ोसी देशों में भारत की तुलना में पेट्रोल पर टैक्स कम लगाया जाता है। सरकार ने अब तक सिर्फ दो बार ही एक्साइज ड्यूटी घटाकर जनता को राहत पहुंचाने की कोशिश की है। एक फरवरी 2018 को बजट में बेसिक एक्साइज ड्यूटी दो रुपये और अतिरिक्त एक्साइज ड्यूटी छह रुपये रुपये खत्म की थी, हालांकि बदले में सरकार ने आठ रुपये प्रति लीटर रोड सेस लागू कर दिया था।वहीं इससे पूर्व अक्टूबर 2017 में जब दिल्ली में पेट्रोल की कीमतें 70 रुपये के पार जा पहुंचीं थीं, तब सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर दो रुपये एक्साइज ड्यूटी घटाई थी।

पड़ोसी देशों में कीमतेंः ग्लोबल पेट्रोल प्राइस डॉट कॉम की ओर से 15 मई 2018 को जारी आंकड़ों के मुताबिक भारत में जहां इस वक्त पेट्रोल की औसत कीमत 78.29 रुपये है। वहीं पड़ोसी पाकिस्तान में पेट्रोल की कीमत भारतीय रुपये में 51.52 , श्रीलंका में 63.87 रुपये, नेपाल में 67.50 रुपये, बांग्लादेश में 71.04 रुपये प्रति लीटर है। जबकि अफगानिस्तान में 47.07 और भूटान में 57.02 रुपये प्रति लीटर है। चीन में पेट्रोल की औसत कीमत 80.74 है। चीन को छोड़कर बाकी सभी देशों की अर्थव्यवस्था भारत से काफी कमजोर है।

ग्लोबल पेट्रोल प्राइस डॉटकॉम की ओर से भारतीय रुपये में जारी दुनिया के देशों में पेट्रोल के दाम

भारत में कीमतें ज्यादा होने की वजहः पेट्रोल की खुदरा कीमतों में पचास प्रतिशत से ज्यादा रेट टैक्स और डीलर के कमीशन से बढ़ता है।राज्य अलग-अलग टैक्स वसूलते हैं।उदाहरण के तौर पर दिल्ली में बिना टैक्स के पेट्रोल का बेस प्राइस करीब 35.68 रुपये है। जबकि 25.9 प्रतिशत एक्साइज ड्यूटी, फिर 21,3 प्रतिशत वैट लगता , वहीं तीन रुपये 60 पैसे डीलर का कमीशन होता है। इस प्रकार 35.68 रुपये का पेट्रोल दिल्ली में करीब 76 रुपये से अधिक कीमत में मिल रहा है।

ग्लोबल पेट्रोल प्राइस की ओर से दुनिया के देशों में पेट्रोल की कीमत(भारतीय रुपये में)

ये भी है वजहःअंतरराष्ट्रीय बाजार में तीन साल के सबसे उच्चतम स्तर पर तेल के दाम हैं।देश में तेल आयात महंगा हुआ है। कर्नाटक चुनाव के मद्देनजर भी तेल की कीमतें बढ़ने से सरकार ने रोक रखीं थीं।बताया जा रहा है कि मांग और आपूर्ति के बीच भी काफी अंतर होने से अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमतों में इजाफा हुआ है।वहीं तेल निर्यातक देशों के संगठन(ओपेक) के सदस्य ईरान पर बैनन लगने की आशंका भी दाम बढ़ने की वजह बताई जाती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App