ताज़ा खबर
 

सबरीमाला विरोध प्रदर्शन मामले में अब तक 3,345 से ज्यादा गिरफ्तार

पिछले 12 घंटों में पथनामथित्ता जिले, जहां भगवान अयप्पा का मंदिर स्थित है, के साथ ही तिरुवनंतपुरम, कोझिकोड, एनार्कुलम के पुलिस स्टेशनों में 500 से ज्यादा गिरफ्तारियां दर्ज की गई हैं।

Author October 28, 2018 1:14 PM
भजन और प्रार्थनाओं से विरोध करने वाले गिरफ्तार नहीं हुए हैं। (फोटो सोर्स : Indian Express)

केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में शामिल 3,345 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है जबकि राज्य भर में विभिन्न पुलिस थानों में 517 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं। सबरीमाला तांत्री परिवार के सदस्य और कार्यकर्ता राहुल ईश्वर को रविवार सुबह कोच्चि में गिरफ्तार किया गया। 26 अक्टूबर से अब तक कुल 3,346 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

पुलिस को शिकायत मिली थी कि राहुल ईश्वर ने पिछले सप्ताह कोच्चि में एक संवाददाता सम्मेलन में इस मुद्दे पर भड़काऊ टिप्पणी की थी जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया। इस बीच पिछले 12 घंटों में पथनामथित्ता जिले, जहां भगवान अयप्पा का मंदिर स्थित है, के साथ ही तिरुवनंतपुरम, कोझिकोड, एनार्कुलम के पुलिस स्टेशनों में 500 से ज्यादा गिरफ्तारियां दर्ज की गई हैं।

पुलिस के मुताबिक, अभी तक केवल 122 प्रदर्शनकारी रिमांड में हैं जबकि अन्य को जमानत पर रिहा कर दिया गया है। हालांकि, केरल पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहरा ने निर्देश दिया है कि उन लोगों की गिरफ्तारी नहीं होनी चाहिए जिन्होंने भजन और प्रार्थनाओं के जरिए अपना विरोध जाहिर किया था।

वहीं, केरल में आश्रम चलाने वाले धर्म गुरु के आश्रम पर अज्ञात हमलावरों ने शुक्रवार (26 अक्टूबर) और शनिवार (27 अक्टूबर) की दरमियानी रात करीब 2.30 बजे हमला कर दिया। धर्म गुरु, 10 से 50 साल की आयु वाली महिलाओं के सबरीमाला मंदिर में प्रवेश के लिए दिए गए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का समर्थन ​कर रहे थे। तिरुवनंतपुरम के बाहरी इलाके में स्थित इस आश्रम पर हमला करने वालों ने दो कारों और एक स्कूटर को भी आग के हवाले कर दिया। हमलावरों ने आश्रम के बाहर धमकी भी चिपका दी थी।

गौरतलब है कि सर्वोच्च न्यायालय ने 28 सितंबर को अपने फैसले में 10 से 50 साल तक की उम्र की महिलाओं के मंदिर में प्रवेश करने पर लगे प्रतिबंध को हटा दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App