ताज़ा खबर
 

बाढ़ से त्राहिमाम: दो राज्यों में 18 लाख से ज्यादा आबादी बेघर, बिहार सीएम ने किया हवाई सर्वेक्षण, 21 की मौत

बिहार में अब तक बाढ़ से दस लोगों के मरने की खबर आई है, जबकि असम में बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है। असम में बाढ़ से करीब 10 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। पांच लाख से ज्यादा लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया गया है।

Author Published on: July 14, 2019 9:44 PM
पिछले तीन चार दिनों में असम और बिहार में अत्यधिक वर्षा हुई है।

लगातार हो रही बारिश से असम और बिहार समेत पूर्वोत्तर के कई राज्यों में बाढ़ से हालात बदतर हो गए हैं। इन दोनों राज्यों में करीब 18 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। उन्हें अपने-अपने घरों को छोड़ना पड़ा है। बिहार के आधा दर्जन से ज्यादा जिले बाढ़ की विभीषिका झेल रहे हैं। सीतामढ़ी, शिवहर, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चम्पारण, मधुबनी, अररिया, दरभंगा, सुपौल, किशनगंज और सहरसा जिले सबसे ज्यादा प्रभावित हैं।

हालात की गंभीरता को देखते हुए राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी और जल संसाधन मंत्री संजय झा के साथ रविवार (14 जुलाई) को हवाई सर्वेक्षण किया। सर्वेक्षण के बाद सीएम ने अधिकारियों को राहत और बचाव कार्य में तेजी लाने और बाढ़ प्रभावितों को राहत सामग्री मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं।

बिहार में अब तक बाढ़ से दस लोगों के मरने की खबर आई है, जबकि असम में बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है। असम में बाढ़ से करीब 10 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। पांच लाख से ज्यादा लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया गया है। राज्य के बारापेटा, मोरगांव, लखीमपुर, धमीजा, चिरांग, जोरहाट, गोलाघाट और डिब्रूगढ़ जिले बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं।

एक बयान में गृह मंत्रालय ने कहा कि भारतीय मौसम विभाग ने उसे सूचित किया है कि पिछले तीन चार दिनों में असम और बिहार में अत्यधिक वर्षा हुई है तथा अगले 48 घंटे के दौरान और वर्षा होने की संभावना है। एनडीआरएफ महानिदेशक ने बताया कि बाढ़ प्रभावित राज्यों में नुकसान संभावित क्षत्रों में पहले से ही एनडीआरएफ की 73 टीमें जरूरी उपकरणों के साथ तैनात हैं।

असम और बिहार में एनडीआरएफ की टीमों ने 750 लोगों को बचाया भी है। केंद्रीय जल आयोग ने भी सूचित किया है कि असम में ब्रह्मपुत्र, बेकी, जियाभारली, काटखाल और बराक तथा बिहार में कमला, बागमती, महानंदा, गंडक नदियां उफान पर हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 नवजोत सिंह सिद्धू के मंत्री पद छोड़ते ही जोश में AAP, पार्टी में शामिल होने का दिया न्योता, समझें सियासी खेल
2 कर्नाटक संकट: ‘किसी कीमत पर वापस नहीं होगा इस्तीफा’, कांग्रेस MLA नागराज के मुंबई पहुंचते बोले बागी विधायक, मान-मनौव्वल जारी
3 IRCTC Indian Railways: आज से 22 जुलाई तक 80 ट्रेनें कैंसल, 57 का बदला रूट