ताज़ा खबर
 

दिल्ली की जेलों में सद्भाव की मिसाल: 100 से अधिक हिंदू कैदी मुस्लिम संग रख रहे रोजा

Ramadan: अधिकारियों ने बताया कि कैदियों की कैंटीन में रूह आफजा, खजूर और ताजे फलों का पर्याप्त भंडार है, जिसे कैदी खरीद सकते हैं।

ramadan, ramadan 2019, ramadan 2019 india, ramadan 2019 date, ramadan 2019 date in india, happy ramadan, happy ramadan 2019, ramadan mubarak, ramadan mubarak images, ramadan 2019 date in dubai, ramadan 2019 date in uae, ramadan 2019 date in saudi, ramadan 2019 date in saudi arabai, ramadan 2019 saudi arabai, ramadan news, religion news, Rules of Ramazan, Rules roza, precaution of rozaसांकेतिक तस्वीर।

Ramadan: दिल्ली की जेलों में 100 से अधिक हिंदू कैदी मुस्लिम कैदियों के साथ रमजान के दौरान सुबह से शाम तक रोजा रख रहे हैं। एक बयान में तिहाड़ जेल प्रशासन ने कहा कि दिल्ली जेल के केंद्रीय कारागार में बंद 16,665 कैदियों में से 2,658 कैदी रोजा रख रहे हैं। 2,658 कैदियों में से 110 हिंदू हैं। बयान के अनुसार 31 हिंदू महिला कैदी और 12 हिंदू युवा कैदी रमजान के महीने में रोजा रख रहे हैं। जेल अधिकारियों के अनुसार ‘सहरी’ और अन्य नमाज को देखते हुए निर्धारित भोजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये ‘लंगर’ के समय में बदलाव किया गया है।

अधिकारियों ने कहा, ‘‘कैदियों की कैंटीन में रूह आफजा, खजूर और ताजे फलों का पर्याप्त भंडार है, जिसे कैदी खरीद सकते हैं। सभी केंद्रीय जेलों में ‘रोजा इफ्तार’ के भी इंतजाम किये गये हैं।’’ उन्होंने बताया कि धार्मिक और परमार्थ संगठनों को जेल के अंदर कैदियों के साथ नमाज और ‘रोजा इफ्तार’ के आयोजन की अनुमति है। इसमें आम सुरक्षा एहतियात बरते जायेंगे।
दिल्ली की जेलों में तीन जेल तिहाड़, रोहिणी और मंडोली जेल हैं।

रमजान का महीना मंगलवार को शुरू हो गया। इस्लामिक कैलेंडर का यह नौवां महीना है जब मुसलमान सुबह से सूर्यास्त तक भोजन और पानी ग्रहण नहीं करते हैं। रमजान के समापन पर ईद-उल फितर मनाया जाता है। इस दौरान मुसलमान रोजा रखते हैं।

ऐसा माना जाता है कि रमजान के शुरुआती 10 दिनों को रहमतों का दौर माना जाता है। वहीं इससे अगले 10 दिनों को माफी का दौर बताया जाता है। वहीं आखिरी 10 दिनों को जहन्नुम से बचने का दौर कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि रमजान के दिनों में ताक्वा प्राप्त किया जाता है, ताक्वा का मतलब होता है कि इस दौरान सिर्फ वही काम किए जाते हैं जो अल्लाह को पसंद होते हैं। ऐसा कोई काम नहीं किया जाता जोकि अल्लाह को पसंद नहीं होता है। (भाषा इनपुट के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ब्रिटिश कोर्ट में तीसरी बार नीरव मोदी की जमानत अर्जी खारिज, PNB घोटाले का है आरोपी
2 इटली की पत्रकार का दावा- बालाकोट एयर स्‍ट्राइक में मरे थे 170 आतंकी, परिवार को मुआवजा की भी पेशकश
3 NRC पर असम सरकार को SC की दो टूक- 31 जुलाई तक प्रकाशित करें फाइनल लिस्ट, एक दिन की भी नहीं हो देरी
ये पढ़ा क्या?
X