ताज़ा खबर
 

अमेर‍िका में भी रोज अपना पेशाब पीते थे मोरारजी देसाई, चैनलों के ल‍िए बनी थी मसालेदार खबर

एक टीवी चैनल पर इतवार को द‍िखाए जाने वाले काफी लोकप्र‍िय शो (60 मिनट्स) में देसाई ने अपना करीब आधा वक्‍त 'यूरीन थेरेपी' की महत्‍ता बताने पर ही खर्च कर द‍िए।

पूर्व प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई साल 1977 से 1979 तक देश के प्रधानमंत्री रहे।

अमेर‍िकी राष्‍ट्रपत‍ि डोनाल्‍ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप इन द‍िनों भारत यात्रा पर हैं। उनकी हर बात यहां खबर बन रही है। लेक‍िन, अमेर‍िका में भारतीय प्रधानमंत्री की यात्रा को भी वहां के मीड‍िया में इतना महत्‍व नहीं म‍िलता। नरेंद्र मोदी के अमेर‍िका दौरे की भले ही थोड़ी बहुत चर्चा रही हो, पर अन्‍य प्रधानमंत्रियों की यात्रा वहां के मीड‍िया में कोई महत्‍व नहीं पा पाती। यह चलन कोई नया नहीं है। जब मोरारजी देसाई बतौर प्रधानमंत्री  अमेर‍िका गए थे, तब भी ऐसा ही था। उनकी यात्रा से जुड़ी केवल नकारात्‍मक बातें ही उनके सामने आ रही थीं। यहां तक क‍ि एक जगह ह‍िंदी में भाषण देने पर भी उन्‍हें व‍िरोध झेलना पड़ा। वह भी भारतीयों के द्वारा ही। तब बचाव के ल‍िए उनके व‍िदेश मंत्री (अटल ब‍िहारी वाजपेयी) को आगे आना पड़ा था। यह कह कर क‍ि भाषाई व‍िवाद को अब यहां मत आयात कीज‍िए।

मोरारजी देसाई की यात्रा को वहां के मीड‍िया में बहुत ज्‍यादा जगह नहीं दी गई। म‍िली भी तो नकारात्‍मक। यहां तक क‍ि न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स ने खबर छापी क‍ि द‍िल्‍ली में देसाई के मंत्र‍िमंडल सहयोग‍ियों ने उनकी गैरमौजूदगी में कैब‍िनेट की बैठक से इनकार कर द‍िया। वैसे, न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स ही लगभग इकलौता मीड‍िया था जो देसाई की यात्रा में नाम मात्र की भी द‍िलचस्‍पी ले रहा था। लेक‍िन, जब देसाई द्वारा रोज अपना पेशाब पीने की बात सामने आई तो ज्‍यादातर मीड‍िया ने इसे हाथोंहाथ ल‍िया और चटखारे लेकर खबरें परोसीं। तब टाइम्‍स ऑफ इंड‍िया के ल‍िए र‍िपोर्ट‍िंंग करने वाले पत्रकार एम.वी. कामत के मुताब‍िक देसाई ने अमेर‍िका में भी अपना पेशाब पीने की आदत छोड़ी नहीं। उन्‍होंने न केवल पेशाब पीया, बल्‍कि इस बारे में खुल कर बात भी की। एक टीवी चैनल पर इतवार को द‍िखाए जाने वाले काफी लोकप्र‍िय शो (60 मिनट्स) में देसाई ने अपना करीब आधा वक्‍त ‘यूरीन थेरेपी’ की महत्‍ता बताने पर  ही खर्च कर द‍िए।

टीवी पर बड़ी हस्‍त‍ियों के इंटरव्‍यू करने वालीं सेलेब्र‍िटी पत्रकार बारबरा वाल्‍टर्स ने अपने संस्‍मरण में बताया है क‍ि देसाई ने इस बारे में जब पहली बार उन्‍हें बताया तो उन्‍होंने स्‍टोरी फाइल की, पर एबीसी न्‍यूज ने मना कर द‍िया। जब सीबीएस के शो 60 म‍िनट्स में खुद देसाई ने इस बारे में बात की, तब एबीसी न्‍यूज ने उनका फुटेज चलाया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App