ताज़ा खबर
 

मूडीज की मोदी को चेतावनी: पार्टी नेताओं की जुबान पर लगाम लगाएं, वरना साख गंवाने को तैयार रहें

''India Outlook: Searching for Potential'' नाम से जारी रिपोर्ट में 'मूडीज' ने लिखा, ''अगर भारत को क्षमता के अनुसार ग्रोथ हासिल करनी है तो मोदी सरकार को वे सभी रिफॉर्म करने होंगे, जिनका उन्‍होंने वादा किया था।''

Author नई दिल्‍ली | October 30, 2015 4:11 PM
गौमांस खाने की अफवाह के चलते दादरी में हुई एक मुस्लिम की हत्‍या के खिलाफ नई दिल्‍ली में प्रदर्शन करते एक्टिविस्‍ट।

ग्‍लोबल रेटिंग एजेंसी ‘मूडीज’ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चेतावनी दी है कि अगर उन्‍होंने अपनी पार्टी के लोगों पर लगाम नहीं लगाई, तो भारत न केवल डोमेस्टिक और ग्‍लोबल क्रेडिबिलिटी गंवा सकता है। ”India Outlook: Searching for Potential” नाम से जारी रिपोर्ट में ‘मूडीज’ ने लिखा, ”अगर भारत को क्षमता के अनुसार ग्रोथ हासिल करनी है तो मोदी सरकार को वे सभी रिफॉर्म करने होंगे, जिनका उन्‍होंने वादा किया था। इसमें रत्‍ती भर शक नहीं है कि राजनीतिक नतीजों पर ही भारत की ग्रोथ टिकी है। यह बात तो सभी जानते हैं कि मोदी सरकार के पास राज्‍यसभा में बहुमत नहीं है। ऐसे में सरकार को रिफॉर्म करने के लिए विपक्ष की भी जरूरत पड़ेगी। ‘मूडीज’ ने साल 2015 के लिए 7.6 जीडीपी ग्रोथ प्रोजेक्‍ट की है।

मूडीज ने अपने विश्‍लेषण में लिखा, ”कई बार देखने को मिला है कि सरकार अपनी ही पार्टी के नेताओं के विवादित बयानों पर रोक लगाने में नाकाम रही है। हालांकि, इन राष्‍ट्रवादियों से प्रधानमंत्री मोदी ने खुद को दूर कर रखा है, लेकिन अल्‍पसंख्‍यकों के मुद्दे को लेकर तनाव तो चल रहा है। यही कारण है कि हिंसक घटनाओं में भी वृद्धि हुई है। ऐसे में नरेंद्र मोदी के पास दो ही रास्‍ते बचे हैं, पहला- या तो वह अपने साथियों पर लगाम कसें या फिर ग्‍लोबल क्रेडिबिलिटी को दांव पर लगा दें।”

Read Also:

बीजेपी उम्‍मीदवार ने कहा- मुझे लोगों ने रुला दिया, हूं पक्‍का मुसलमान, बीफ खाने से कोई रोक नहीं सकता

बिहार चुनाव: भाजपा उम्‍मीदवार ने कहा, एमएलए बना तो मुसलिमों पर लगाऊंगा लगाम

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करें, गूगल प्लस पर हमसे जुड़ें और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App