ताज़ा खबर
 

दिल्ली को मानसून की बौछारों के लिए करना होगा इंतजार, 27 जून तक पहुंचने का है अनुमान

मानसून के आगे बढ़ने का क्रम 26 जून और 30 जून के बीच धीरे-धीरे मजबूत होने की उम्मीद है और इस दौरान वह उत्तर पश्चिम भारत के अधिकतर हिस्सों में पहुंचेगा।

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: Jun 18, 2021 10:40:36 pm
मध्य भारत से लेकर उत्तर भारत के कुछ इलाकों में मध्यम बारिश, पर यूपी के पास ठहरा मानसून। (एक्सप्रेस फोटो- आशीष काले)

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को बताया कि दक्षिण पश्चिमी मानसून गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के कुछ और हिस्सों में आगे बढ़ गया है। अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली को मानसून की बौछारों के लिए अभी इंतजार करना होगा। मानसूनी हवाओं के 27 जून तक राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने का अनुमान है। विभाग ने कहा कि अगले 24घंटे में गुजरात ,दक्षिण राजस्थान ,पश्चिमी उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के शेष हिस्सों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए स्थितियां अनुकूल हैं। मानसून की उत्तरी सीमा (एनएलएम) जूनागढ़, दीसा, गुना,कानपुर,मेरठ, अंबाला और अमृतसर से हो कर गुजर रही है। 

आईएमडी ने बृहस्पतिवार को कहा था,‘‘ पश्चिमी हवाओं का असर मानसून पर 23 जून तक बना रह सकता है और इसलिए राजस्थान, पंजाब के शेष हिस्से, हरियाणा और दिल्ली में इस दौरान मानसून नहीं पहुंचने के आसार है।’’ इसने कहा कि मानसून के आगे बढ़ने का क्रम 26 जून और 30 जून के बीच धीरे-धीरे मजबूत होने की उम्मीद है और इस दौरान वह उत्तर पश्चिम भारत के अधिकतर हिस्सों में पहुंचेगा।

स्काईमेट वेदर के महेश पलावत ने कहा कि पिछले तीन-चार दिन से पश्चिमी हवाएं मानसून को उत्तर पश्चिम भारत में आगे बढ़ने से रोक रहीं हैं। उन्होंने कहा,‘‘ ये हवाएं अगले सप्ताह भी रहेगी इसलिए दिल्ली में अपने तय समय पर ही 27 जून के आसपास मानसून की बारिश होने का अनुमान है। मौसम विभाग के मुताबिक मानसून उत्तरी सीमा दीव, सूरत, नंदुरबार, भोपाल, नौगोंग, हमीरपुर, बाराबंकी, बरेली, सहारनपुर, अंबाला और अमृतसर से गुजर रहा है।

Live Blog

Highlights

    20:02 (IST)18 Jun 2021
    उत्तराखंड के कई जिलों में भारी बारिश की संभावना

    मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार उत्तराखंड के कई जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने भारी बारिश को देखते हुए कई जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है। इनमें चमोली, बागेश्वर, अल्मोड़ा व ऊधमसिंह नगर शामिल हैं।

    19:22 (IST)18 Jun 2021
    बिहार के चंपारण में बने बाढ़ के हालात

    गंडक नदी से पानी छोड़े जाने के बाद बिहार के चंपारण में बाढ़ के हालात बन गए हैं। चंपारण के कई गांवों में पानी घुसना शुरू हो गया है। गांवों में पानी बढ़ने के कारण प्रशासन ने लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने को कहा है। आपदा एवं राहत विभाग की टीम भी इस कार्य में जुट गई है।

    18:37 (IST)18 Jun 2021
    मध्य और उत्तर भारत में बारिश का दौर जारी

    मध्य और उत्तर भारत में मानसून के पहुंचने के बाद बारिश का दौर जारी है। जहां मध्य भारत में जबरदस्त बारिश रिकॉर्ड की जा रही है, वहीं उत्तर भारत में भी मध्यम से हल्की वर्षा दर्ज हुई है। मौसम विभाग का उत्तर प्रदेश और बिहार में आज जबरदस्त बारिश का अनुमान भी काफी हद तक सही साबित हुआ है। दोनों राज्यों में सुबह से ही बादल छाए रहने के बाद बारिश हुई। फिलहाल कुछ इलाकों में आकाशीय बिजली गिरने की भी संभावना जताई गई है।

    17:50 (IST)18 Jun 2021
    राजस्थान में भी मानसून के आने के साथ बदला मौसम

    राजस्थान में मानसून के आने साथ ही मौसम में बदलाव होने लगे हैं। मानसून आने के कारण प्रदेश के कई इलाकों में काले बादल छाए रहे और तेज हवाएं भी बहती रही। बदलते मौसम को लेकर जयपुर मौसम विभाग ने प्रदेश के 1 दर्जन से अधिक जिलों में अलर्ट जारी किया है।

    17:08 (IST)18 Jun 2021
    उत्तरप्रदेश के कई जिलों में अगले 24 से 48 घंटे में हो सकती है भारी बारिश

    उत्तरप्रदेश में अगले 24 घंटों के दौरान मानसून के फिर से सक्रिय होने की संभावना है। लखनऊ स्थित मौसम केंद्र की रिपोर्ट के अनुसार पूर्वी उत्तरप्रदेश और आसपास के क्षेत्रों में 24 से 48 घंटों में भारी बारिश हो सकती है। अगले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के महराजगंज, सिद्धार्थ नगर, गोंडा, बलरामपुर, श्रावस्ती, बहराइच, लखीमपुर खीरी और आसपास के इलाकों में बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।

    16:14 (IST)18 Jun 2021
    भारी बारिश के कारण उत्तरप्रदेश के सोनभद्र को झारखंड से जोड़ने वाला पुल बहा

    उत्तरप्रदेश के सोनभद्र में भारी बारिश के कारण एनएच 75 E पर स्थित लौआ नदी का पुल बह गया है। यह पुल उत्तरप्रदेश के सोनभद्र को झारखंड से जोड़ता था। पुल टूटने के बाद इस मार्ग की ओर जाने वाले ट्रैफिक को छत्तीसगढ़ की तरफ जाने वाले रोड पर डायवर्ट कर दिया गया है।

    15:43 (IST)18 Jun 2021
    गुजरात के आणंद में भारी बारिश की वजह से कई इलाके हुए जलमग्न, देखें फोटो

    15:22 (IST)18 Jun 2021
    उत्तराखंडः पहाड़ी इलाकों में भारी बारिश के आसार, इन जिलों में रेड अलर्ट जारी

    उत्तराखंड में मानसून की दस्तक आम लोगों के लिए खतरनाक हो सकती है। दरअसल, पिथौरागढ़, नैनीताल और चंपावत जैसे पहाड़ी जिलों में शुक्रवार को बहुत भारी बारिश की संभावना जताई गई है। उधर चमोली, बागेश्वर, अल्मोड़ा व ऊधमसिंह नगर में भारी बारिश के आसार हैं। इसके मद्देनजर मौसम विभाग ने इन जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है। 

    15:03 (IST)18 Jun 2021
    हरियाणा में 2-3 दिन के अंदर पहुंच सकता है मानसून

    हरियाणा के अधिकतर शहरों में सुहावना मौसम जारी है। हालांकि, जल्द बारिश होने की संभावना अभी कम है। मौसम विभाग ने दो से तीन दिन बाद बारिश का अनुमान लगाया है। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी पर बने एंट्री साइक्लोन के कारण मानसून कमजोर पड़ा है। जिससे पानीपत समेत प्रदेश के अन्य जिलों में मानसून पहुंचने में देरी हो रही है। वहीं, पूर्वी हवाओं के साथ आ रही नमी ने फिर से उमस पैदा कर दी है।

    14:43 (IST)18 Jun 2021
    पंजाब और हिमाचल के कुछ इलाकों में बारिश, चंडीगढ़ भी भीगने के आसार 

    पंजाब और हिमाचल प्रदेश के कई शहरों में सुबह से ही बादल छाए हुए हैं। इससे तापमान में कमी आई है। मौसम विभाग की ओर से आज हल्की बारिश होने के संकेत दिए गए है। शनिवार को भी मौसम इसी प्रकार का रहने के बारे बताया जा रहा है। पंजाब और हिमाचल के इलाके में हो रही बारिश का असर आगे चंडीगढ़ के मौसम पर पड़ सकता है। अगले कुछ दिनों में वेस्टर्न डिस्टरबेंस एक्टिव होने के बाद फिर से बारिश होने के आसार है।

    14:20 (IST)18 Jun 2021
    बिहार में मानसून का असर, इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी

    मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जारी करते हुए कहा है कि 21 जून तक उत्तर-पश्चिम बिहार के जिलों के लिए सामान्य से अधिक बारिश होगी। यहां के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। पश्चिम चंपारण, सीवान, सारण, पूर्वी चंपारण और गोपालगंज जैसे जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है। 

    Next Stories
    1 चीन के मुकाबले को सीमाई इलाकों में युद्धस्तर पर इन्फ्रास्ट्रक्चर बढ़ा रहा भारत; जानें सालभर में कितने बदल गए हालात?
    2 कोरोनाः तीसरी लहर से पहले तैयार हो सकते हैं 1 लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स, PM ने लॉन्च किए छह क्रैश कोर्स
    3 TCS, Infosys जैसी IT कंपनियों से 30 लाख कर्मियों की छुट्टी की खबर! BJP सांसद का तंज- यही है ‘V शेप’ रिकवरी?
    ये पढ़ा क्या?
    X