ताज़ा खबर
 

मोक्ष सेवा: एक बटन दबाने से होगी अंतिम संस्कार की सारी व्यवस्था

सामाजिक दूरी बनाए रखना जरूरी है । इसलिए पंडित पूजा-अर्चना वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए ही करें तो ठीक है। लेकिन अगर पंडित को मौके पर बुलाए जाने की मांग भी होगी तो उसे भी सभी एहतियात बरतते हुए पूरा किया जाएगा।

Author पुणे | Published on: June 3, 2020 5:07 AM
crime, crime newsअंतिम संस्कार। सांकेतिक तस्वीर।

कोरोना विषाणु से निपटने के लिए लगी पूर्णबंदी के कारण आवाजाही पर प्रतिबंधों के मद्देनजर प्रार्थना समारोहों के लिए पुजारी और अन्य आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराने वाले पुणे के एक स्टार्ट-अप ने अब अपने ऑनलाइन मंच के माध्यम से अंतिम संस्कार संबंधी सेवाएं मुहैया कराने का फैसला किया है।

‘मोक्ष सेवा’ के जरिए कंपनी का लक्ष्य परिवार को मृतक का मृत्यु प्रमाण पत्र प्राप्त करने, अर्थी का इंतजाम करने, पार्थिव शरीर को श्मशान ले जाने, श्मशान पास प्राप्त करने, पुजारी और अंतिम संस्कार के लिए आवश्यक सामग्री मुहैया कराने में मदद करना है।
कंपनी के एक साझेदार प्रणव छावरे ने बताया कि कंपनी ‘गुरुजी ऑन डिमांड’ सेवा के जरिए अंतिम संस्कार के बाद किए जाने वाले अनुष्ठानों में शोक संतप्त परिवारों की सहायता करने की योजना भी बना रही है। उन्होंने कहा कि पूर्णबंदी के कारण रिश्तेदार और दोस्त अंतिम संस्कार में नहीं आ सकते। ऐसे में लोगों के लिए सभी काम अकेले करना मुश्किल हो जाता है। इस सेवा को शुरू करने का लक्ष्य परिवार को एक ही मंच पर सभी सेवाएं उपलब्ध कराना है।

छावरे ने कहा कि समय की मांग को देखते हुए सामाजिक दूरी बनाए रखना जरूरी है । इसलिए पंडित पूजा-अर्चना वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए ही करें तो ठीक है। लेकिन अगर पंडित को मौके पर बुलाए जाने की मांग भी होगी तो उसे भी सभी एहतियात बरतते हुए पूरा किया जाएगा। कोरोना के कारण लगी पाबंदियों के चलते अंतिम संस्कार में अधिक लोगों के शामिल होने की अनुमति नहीं है।

छावरे कहते हैं कि एकल परिवारों में हालात और खराब हैं। ऐसे परिवारों में किसी की मौत होने पर अंतिम संस्कार के लिए जरूरी सामान जुटाना मुश्किल हो जाता है। वह कहते हैं, ‘ऐसा देखा जा रहा है कि अगर परिवार में किसी की मौत हो गई है तो घर के लोगों को अंतिम संस्कार की तैयारियों के लिए इधर उधर भागना पड़ता है। इस योजना का मकसद लोगों को एक ही जगह पर सारा सामान मुहैया कराना और संकट के समय में उनकी परेशानियों को कम करना है।

इस समय इस कंपनी के साथ पुणे और पिंपरीचिंचवड इलाके के 650 पुजारियों को शामिल किया गया है। लोग कंपनी के मोबाइल ऐप या उसकी वेबसाइट पर जाकर उसकी सेवाओं के लिए बुकिंग करा सकते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बड़ा सवाल: गांव लौटे मजदूरों के सामने रास्ता, क्या होगा आगे
2 दिल्ली बीजेपी: किसी पार्षद को तीसरी बार कमान
3 राजस्थान: कोरोना मरीज बढ़े, ठीक होने की रफ्तार भी बढ़ी