ताज़ा खबर
 

जेएनयू विवाद पर बोले मोहन भागवत- नई पीढ़ी को भारत माता की जय बोलने को भी कहना पड़ता है

आरएसएस महासचिव दत्‍तात्रेय होसबोले ने आरोप लगाया कि जेएनयू विवाद षड़यंत्र का नतीजा था।

Author नागपुर | Published on: March 4, 2016 9:52 AM
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत (पीटीआई फोटो)

राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ(आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने जेएनयू और देश विरोधी नारेबाजी के मामले पर बोलते हुए कहा कि अब युवाओं को भारत माता की जय कहने के लिए भी बताना पड़ता है। उन्‍होंने कहा, ‘अब ऐसा समय आ गया है जब हमें नई पीढ़ी को भारत माता की जय बोलने के लिए कहना पड़ता है। यह दुर्भाग्‍य की बात है कि हमें उन्‍हें राष्‍ट्रवाद सिखाना पड़ रहा है। जब ऐसे लोग हैं जो आप से कहते हैं कि भारत माता की जय मत कहो।’

नागपुर में आरएसएस मुख्‍यालय पर आयोजित कार्यक्रम में भागवत ने कहा कि भारत समर्थन के नारे न लगाने वाले लोगों की संख्‍या ज्‍यादा है। उनका इशारा देश विरोधी नारे लगाने वाले छात्रों का समर्थन कर रहे बुद्धिजीवी वर्ग की ओर था। उनसे पहले आरएसएस महासचिव दत्‍तात्रेय होसबोले ने आरोप लगाया कि जेएनयू विवाद षड़यंत्र का नतीजा था।

उन्‍होंने कहा कि जिन लोगों ने पाकिस्‍तान और अफजल गुरु के समर्थन में नारे लगाए वे गद्दार है। उन पर देशद्रोह का केस किया जाना चाहिए। ऐसी नारेबाजी में शामिल छात्रों पर भी कड़ार्इ से कार्रवाई की जानी चाहिए। आरएसएस के राष्‍ट्रीय प्रचार प्रमुख डॉक्‍टर मनमोहन वैद्य ने कहा कि जेएनयू विवाद चिंता का विषय है। दिल्‍ली पुलिस ने जो किया सही किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्‍या!
X