ताज़ा खबर
 

मोहम्‍मद शमी की पत्‍नी हसीन जहां का पहला पति आया सामने, किए चौंकाने वाले खुलासे

स्टेशनरी का कारोबार करने वाले हसीन जहां के पूर्व पति सैफुद्दीन का कहना है कि वे दुआ करते हैं कि मो. शमी और हसीन जहां के बीच चल रहा विवाद सुलझ जाए। दोनों अगर एक साथ बैठें तो उनके बीच मनमुटाव खत्म हो सकता है।

Author नई दिल्ली | Updated: March 11, 2018 2:10 PM
पत्नी हसीन जहां के साथ मो. शमी व हसीन के पूर्व पति सैफुद्दीन

भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाज मो. शमी और उनकी पत्नी हसीन जहां के बीच चल रहे विवाद के बीच हसीन के पूर्व पति भी सामने आए हैं। स्कूली दिनों में प्यार करने के बाद हसीन जहां से शादी रचाने वाले सैफुद्दीन का 2010 में तलाक हो गया। करीब आठ साल दोनों की शादी चली थी। स्टेशनरी का कारोबार करने वाले सैफुद्दीन का कहना है कि वे दुआ करते हैं कि मो. शमी और हसीन जहां के बीच चल रहा विवाद सुलझ जाए। दोनों अगर एक साथ बैठें तो उनके बीच मनमुटाव खत्म हो सकता है।

सैफुद्दीन ने इलेक्ट्रानिक मीडिया से बातचीत में हसीन जहां से अपनी शादी और तलाक से जुड़ी बातें शेयर कीं। उन्होंने कहा कि दसवी कक्षा में पढ़ाई के दौरान ही वह हसीन जहां से प्यार करते थे। हसीन जहां पढ़ने में काफी तेज थी। 2002 में शादी करने के बाद दो बेटियां हुईं। हसीन बेहद महत्वाकांक्षी थी। वह अपने पैरों पर खड़ी होना चाहती थी। मगर, हमारे परिवार में महिलाओं का नौकरी करना वर्जित था। शायद इसी कारण से उसने 2010 में तलाक ले लिया। सैफुद्दीन के मुताबिक अब उनका हसीन जहां से कोई संपर्क नहीं है, उनकी दोनों बेटियां जरूर अपनी मां से कभी-कभार बात करतीं हैं।

पूर्व पति ने मो. शमी के जिंदगी में आए तूफान को लेकर कहा कि इस वक्त मो. शमी का खराब वक्त चल रहा है। शमी बहुत नसीब वाले हैं, जो टीम इंडिया में खेलने का मौका मिला। शमी का बॉलिंग एक्शन अच्छा लगता है। सैफुद्दीन ने कहा कि उन्हें पक्का भरोसा है कि एक बार हसीन और शमीं एक साथ बैठ कर बातचीत कर लें तो दोनों के बीच पैदा हुआ विवाद खत्म हो सकता है। उधर हसीन जहां के पिता और मो. शमी के ससुर ने एबीपी न्यूज से बाचतीच में कहा कि दोनों के बीच इससे पहले कभी विवाद नहीं हुआ। बेहतर है कि दोनों एक साथ बैठकर समझौता कर लें। नहीं तो दो साल की बच्ची का भविष्य खराब हो जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दो साल पहले जिस शख्‍स ने पीएम नरेंद्र मोदी को दी थी भगवतगीता, अब उसने की है एक शिकायत
2 मोदी राज में भाजपा के साथ संघ का भी हुआ रिकॉर्ड विस्तार, 95% हिस्से में पहुंचा आरएसएस
3 यूपी-बिहार उपचुनाव: गोरखपुर, फूलपुर और अररिया उपचुनाव के लिए वोटिंग संपन्न, 13 मार्च को होगी मतगणना