ताज़ा खबर
 

बकाया भुगतान के लिए शुगर मिल प्रबंधकों का घेराव

मोदी शुगर मिल किसान कामगार यूनियन और गन्ना कर्मचारी यूनियन के श्रमिकों ने चार माह के बकाया वेतन भुगतान को लेकर मिल प्रबंधकों का घेराव किया..
Author August 5, 2015 18:34 pm

मोदी शुगर मिल किसान कामगार यूनियन और गन्ना कर्मचारी यूनियन के श्रमिकों ने चार माह के बकाया वेतन भुगतान को लेकर मिल प्रबंधकों का घेराव किया। करीब छह घंटे के घेराव के बाद प्रबंधकों ने मिल मालिक के साथ बातचीत कराए जाने के भरोसे पर श्रमिकों ने प्रबंधकों को जाने दिया।

यूनियन से जुड़े श्रमिक अनिल त्यागी व प्रमोद शर्मा के नेतृत्व में कर्मचारी मिल के गेट पर पहुंचे। कर्मचारी नारेबाजी करते हुए कार्यालय में जा पहुंचे और वहां मौजूद पर्सनल मैनेजर महेश त्यागी व मुख्य अधिशासी वीके लूथरा का घेराव किया। श्रमिकों का आरोप था कि पिछले चार माह से उन्हें वेतन नहीं दिया गया है जिससे उनके परिवार को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

बीते 11 जून को शांतिपूर्ण हड़ताल के छह दिन बाद ही मालिकों ने उनका वेतन देने के बजाय मिल को बंद कर दिया था। उन्होंने बकाया वेतन दिए जाने के साथ मिल को चालू किए जाने की भी मांग की। करीब छह घंटे घेराव के बाद मिल के मुख्य कार्यकारी प्रबंधक वीके लूथरा ने श्रमिकों को मालिक से वार्ता कराने और बकाया वेतन दिलाए जाने के आश्वासन पर श्रमिकों ने घेराव खत्म किया।

अफसरों के खिलाफ नारेबाजी: बिजली की समस्याओं को लेकर भाजपाइयों ने बिजली घर पर प्रदर्शन कर अधिकारियों के खिलाफ जम कर नारेबाजी की। बाद में प्रदर्शनकारियों ने अपनी मांगों का एक ज्ञापन अधिशासी अभियंता को सौंपा।

भाजपा जिलाध्यक्ष नंदकिशोर गुर्जर, नगर अध्यक्ष अशोक माहेश्वरी व सांसद प्रतिनिधि स्वदेश जैन के नेतृत्व में भाजपाई सीकरी रोड स्थित बिजली घर पर पहुंचे। यहां भाजपाई विद्युत अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी करने लगे।

प्रदर्शनकारियों को कहना था कि गन्ने का बकाया भुगतान न होने और भारी बरसात के कारण बरबाद हुई फसलों के कारण तबाही के कगार पर खड़े किसानों के विद्युत बिलों को तत्काल माफ किया जाए। इसके साथ ही क्षेत्र में घोषित किए गए डार्क जोन को समाप्त कर किसानों को सिंचाई के लिए टयूबवेल के कनेक्शन दिए जाएं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App