ताज़ा खबर
 

किसानों से बातचीत को तैयार हुई मोदी सरकार, कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर बोले- सड़कों पर आंदोलन बंद करें; प्रदर्शन से दिल्ली-एनसीआर मेट्रो सेवा प्रभावित

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, "मोदी सरकार किसानों के खेतों के प्रति प्रतिबद्ध है। न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को डेढ़ गुना कर दिया गया है। एग्रीकल्चर के क्षेत्र में एक लाख करोड़ रुपए के इंफ्रास्ट्रक्चर पर काम करना शुरू कर दिया।"

किसान आंदोलन, farmers delhi marchकेंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर.

किसानों के विरोध प्रदर्शन और आंदोलन को लेकर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, “नए कानून बनाना समय की आवश्यकता थी। पंजाब में हमारे किसान भाई-बहनों को कुछ भ्रम है, हमने भ्रम दूर करने के लिए सचिव स्तर पर वार्ता की। मैंने 3 दिसंबर को सभी किसान यूनियन को फिर बैठक के लिए अनुरोध किया है, सरकार चर्चा के लिए पूरी तरह तैयार है।” उन्होंने कहा, “मोदी सरकार किसानों के खेतों के प्रति प्रतिबद्ध है। न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को डेढ़ गुना कर दिया गया है। एग्रीकल्चर के क्षेत्र में एक लाख करोड़ रुपए के इंफ्रास्ट्रक्चर पर काम करना शुरू कर दिया।” उन्होंने किसानों से अपील की कि वे सड़कों पर आंदोलन बंद करें और बातचीत के लिए आगे आएं।

इस बीच दिल्ली पुलिस ने बृहस्पतिवार को केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों द्वारा ‘दिल्ली चलो’ विरोध मार्च के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी के सीमावर्ती क्षेत्रों में अपनी निगरानी सख्त कर दी है। पुलिस ने कहा कि सिंघू सीमा पर दिल्ली पुलिस ने किसानों द्वारा संचालित ट्रैक्टरों की आवाजाही रोकने के लिए रेत से भरे ट्रकों को तैनात किया है। यह पहला मौका है जब शहर की पुलिस ने सीमा पर रेत से भरे ट्रकों को तैनात किया है। पुलिस ने बताया कि सीमा को सील नहीं किया गया है लेकिन वे राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने वाले सभी वाहनों की जांच कर रहे हैं। इससे पहले, दिल्ली पुलिस ने 26 और 27 नवंबर को केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में विरोध प्रदर्शन करने के विभिन्न किसान संगठनों के अनुरोधों को अस्वीकार कर दिया था।

पुलिस ने मंगलवार को कहा था कि अगर वे कोविड-19 महामारी के बीच किसी भी सभा के लिए शहर में आते हैं तो विरोध करने वाले किसानों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। किसानों के मार्च को देखते हुए दिल्ली मेट्रो ट्रेनें बृहस्पतिवार को दोपहर दो बजे तक पड़ोसी शहरों से राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं को पार नहीं करेंगी। डीएमआरसी के मुताबिक बृहस्पतिवार को दोपहर दो बजे से दिल्ली से एनसीआर की ओर मेट्रो सेवाएं जारी रहेंगी, लेकिन एनसीआर से दिल्ली की ओर सुरक्षा कारणों से अगले आदेश तक सेवाएं बाधित रहेंगी।

गुरुवार को नोएडा, गुरुग्राम, फरीदाबाद और गाजियाबाद के यात्रियों के लिए कठिन समय था क्योंकि दिल्ली और एनसीआर मेट्रो स्टेशनों के बीच सात गलियारों में ट्रेन सेवाएं विरोध के कारण दोपहर 2 बजे तक बंद थीं।

डीएमआरसी के एक अधिकारी ने कहा, “यह दिल्ली पुलिस के अनुरोध पर किया गया है कि कोविद -19 महामारी के मद्देनजर अति भीड़ से बचने के लिए। सुबह से दोपहर 2 बजे तक, विभिन्न गलियारों में मेट्रो सेवाओं को विनियमित किया जाएगा।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मोदी सरकार की क्रूरता के ख़िलाफ़ देश का किसान डटकर खड़ा है, राहुल गांधी ने कविता के जरिये किसान आंदोलन का किया समर्थन
2 बिहारः 12 वोट से हारने वाले राजद प्रत्याशी शक्ति यादव पहुंचे हाईकोर्ट, लगाया बड़ा आरोप
3 68 साल के पादरी पर 10 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म का आरोप, पुलिस ने किया गिरफ्तार
Ind Vs Aus 4th Test
X