ताज़ा खबर
 

वीएचपी, बजरंग दल और गौरक्षकों को उकसाती है मोदी सरकार, लोकसभा में खड़गे का बड़ा आरोप, बीजेपी बोली- पारामिलिट्री भेज दें क्या?

कांग्रेस नेता ने कहा कि यह शर्मनाक स्थिति है कि सरकार कुछ शरारती तत्वों के आगे बौनी पड़ गई है और उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।
लोकसभा में बोलते कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे। (PTI Photo/TV GRAB/ 6 Feb, 2017)

संसद के मानसून सत्र का आज 11वां दिन है। आज भी संसद के दोनों सदनों में हंगामा जारी है। उच्च सदन राज्यसभा में जहां गुजरात में कांग्रेस विधायकों की खरीद-फरोख्त का मुद्दा उठा, वहीं लोकसभा में नेता विपक्ष मल्लिकार्जुल खड़गे ने गौरक्षा के नाम पर हो रही हिंसा का मुद्दा उठाया। खड़गे ने केंद्र की भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि वह देश की आबो-हवा बिगाड़ना चाहती है और भय का माहौल बनाना चाहती है। खड़गे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भले ही भाषणों में गौरक्षा के नाम पर हिंसा को बर्दाश्त नहीं करने की बात करते हों लेकिन असल में उनकी सरकार के मंत्री, सांसद और उनकी पार्टी के विधायक और अन्य नेता ही गौरक्षा के नाम पर भीड़ द्वारा हत्या को प्रोत्साहित करते हैं। उन्होंने कहा कि आज पूरे देश में भय और आतंक का माहौल है। भीड़ द्वारा हत्याओं का सिलसिला थम नहीं रहा है।

नेता विपक्ष ने कहा कि मोदी सरकार परोक्ष रूप से विश्व हिन्दू परिषद (वीएचपी), बजरंग दल और गौरक्षकों की मदद कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा शासित राज्य खासकर झारखंड और मध्य प्रदेश मॉब लिंचिंग सेन्टर बन चुके हैं। खड़गे ने अपने भाषण में सहारनपुर और नई दिल्ली से पलवल के बीच चलती ट्रेन में जुनैद की भीड़ द्वारा पीट – पीटकर की गई हत्या का भी जिक्र किया।

खड़गे ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा कि आप एक्शन की बात करते हैं लेकिन क्या आप बता सकते हैं कि आपने इन बहशी तथाकथित गौरक्षकों पर क्या कार्रवाई की है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने जिस दिन हिंसक भीड़ द्वारा हत्या की आलोचना की और कार्रवाई की बात कही, उसी दिन ऐसी घटनाएं फिर घटीं। खड़गे ने कहा कि पीएम ने इस मामले में शीघ्र और कठोर कार्रवाई की बात कही थी लेकिन कुछ नहीं हुआ। उन्होंने सीधे-सीधे प्रधानमंत्री से पूछा, आप सदन को बताएं कि इस संबंध में आप ने क्या कदम उठाए हैं?

कांग्रेस नेता ने कहा कि यह शर्मनाक स्थिति है कि सरकार कुछ शरारती तत्वों के आगे बौनी पड़ गई है और उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार मूकदर्शक बनी बैठी है और गौरक्षा के नाम पर तथाकथित गौरक्षकों की हिंसक घटनाओं को सिर्फ देख रही है। इधर, भाजपा सांसद हुकुमदेव नारायण यादव ने खड़गे पर पलटवार करते हुए कहा कि पीएम खुद कई बार मॉब लिचिंग की घटनाओं पर दुख और रोष प्रकट कर चुके हैं। अब राज्यों की जिम्मेदारी बनती है कि वो उसकी अनुपालन करें। यादव ने कहा कि केंद्र सरकार खुद वहां पारामिलिट्री फोर्स नहीं भेज सकती।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App