ताज़ा खबर
 

पांच साल में 266 हेट क्राइम, मॉब लिंचिंग के खिलाफ मुस्लिम स्कॉलर्स करना चाहते थे प्रदर्शन, नहीं मिली इजाजत

भारतीय लोकतंत्र में भीड़तंत्र बेकाबू हो गया है। मॉब लिंचिंग और हेट क्राइम के मामले दिनोंदिन बढ़ते जा रहे हैं।

Author नई दिल्ली | July 13, 2019 9:33 PM
नई दिल्ली स्थित इस्लामिक कल्चरल सेंटर। फोटो: Video Grab Image

भारत के मुस्लिम स्कॉलर्स की सर्वोच्च संस्था ऑल इंडिया तंजीम उलेमा-ए-इस्लाम हेट क्राइम और मॉब लिंचिंग के खिलाफ प्रदर्शन करना चाहती थी लेकिन केंद्र सरकार ने उन्हें इजाजत नहीं दी। संस्था नई दिल्ली स्थित इस्लामिक कल्चरल सेंटर में 11 जुलाई को प्रदर्शन करना चाहती थी। द वायर की खबर के मुताबिक संस्था ने बीती चार जुलाई को कॉन्फ्रेंस हॉल भी बुक कर लिया था और सभी जरूरी पेमेंट भी कर दी थी लेकिन शाम साढ़े पांच बजे सम्मेलन शुरू होने से कुछ घंटे पहले आयोजन की अनुमति नहीं दी गई।

आयोजन रद्द होने के बाद तंजीम के महासचिव, मौलाना शहाबुद्दीन रजवी ने कहा कि ‘हॉल की बुकिंग करते वक्त हमने बकायदा बुकिंग किस वजह से की जा रही है इसका उल्लेख किया। इस आयोजन में उलेमाओं और मुस्लिम स्कॉलर्स शांतिपूर्ण तरीके से एक जगह एकत्रित होते लेकिन इस्लामिक कल्चरल सेंटर ने आखिर वक्त में इस आयोजन के लिए हॉल के इस्तेमाल करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया।’

उन्होंने आगे कहा ‘सरकार के इस कदम से अभिव्यक्ति की आजादी के संवैधानिक अधिकार का उल्लंघन हुआ है। सरकार देश में मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर विफल है और ऐसे आयोजनों को रोक रही है जो इनके खिलाफ आवाज उठा रहे हैं।’

फैक्टचैकर (FactChecker) वेबसाइट के मुताबिक मोदी सरकार के बीते पांच साल के कार्यकाल में देश के अलग-अलग हिस्सों से 266 हेट क्राइम की घटानाएं सामने आई हैं। इनमें 14 मामले झारखंड के हैं। हाल ही में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि 2014 के बाद से ही मॉब लिंचिंग शुरू नहीं हुई और इसका राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए। गौरतलब है कि भारतीय लोकतंत्र में भीड़तंत्र बेकाबू हो गया है। मॉब लिंचिंग और हेट क्राइम के मामले दिनोंदिन बढ़ते जा रहे हैं। सरकारें कड़ा संदेश देने में कतरा रही हैं और इससे कानून तोड़ने वालों के हौसले और बुलंद हो रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App