ताज़ा खबर
 

चैनल का स्टिंग: कैमरे पर बोलते दिखा मॉब लिंचिंग का आरोपी- वो गाय काट रहा था, मैंने उसको काट दिया

18 जून को घटी इस घटना में 45 वर्षीय कासिम कुरैशी की मौत हो गई थी, वहीं 65 वर्षीय समीउद्दीन बुरी तरह से घायल हो गया था। इस मामले में पुलिस ने 9 लोगों को गिरफ्तार किया था।

मॉब लिंचिंग पीड़ित का परिवार विलाप करते हुए। (express photo by amit mehra)

देश में मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाएं पूरे देश में चर्चा का विषय बनी हुई हैं। सुप्रीम कोर्ट भी ऐसी घटनाओं पर सख्त है और कोर्ट ने सरकार से मॉब लिंचिंग के खिलाफ कानून बनाने को कहा है। हालांकि सख्ती के बावजूद देश में मॉब लिंचिंग की घटनाएं रुक नहीं रही हैं। अब एनडीटीवी ने अपनी एक रिपोर्ट में चौंकाने वाला खुलासा किया है। दरअसल एनडीटीवी की एक टीम ने मॉब लिंचिंग के आरोपियों से बातचीत की और एक खूफिया कैमरे से इसे रिकॉर्ड भी कर लिया। एनडीटीवी की टीम के कैमरे पर जो बातें रिकॉर्ड हुई हैं, वो बेहद चौंकाने वाली हैं। बीते दिनों दिल्ली से 2 घंटे की दूरी पर स्थित हापुड़ में एक व्यक्ति की गो-तस्करी के आरोप में पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी।

18 जून को घटी इस घटना में 45 वर्षीय कासिम कुरैशी की मौत हो गई थी, वहीं 65 वर्षीय समीउद्दीन बुरी तरह से घायल हो गया था। इस मामले में पुलिस ने 9 लोगों को गिरफ्तार किया था, जिनमें से 4 लोग फिलहाल जमानत पर बाहर हैं। एनडीटीवी की टीम ने जमानत पर बाहर एक आरोपी राकेश सिसौदिया से बातचीत की। बातचीत के दौरान राकेश सिसौदिया ने अपना गुनाह भी कबूल किया। राकेश सिसौदिया ने बताया कि “हां मैंने जेलर के सामने बोला कि वो गाय काट रहे थे, मैंने उसको काट दिया…। सिसौदिया ने बताया कि जब वह बीते हफ्ते जमानत पर छूटकर जेल से बाहर आया तो लोगों ने हीरो की तरह उसका स्वागत किया। सिसौदिया ने बताया कि मुझे 3-4 गाड़ी जेल पर लेने गई थीं। राकेश सिसौदिया जिंदाबाद के नारे लगाए। लोगों ने बाहें फैलाकर मेरा स्वागत किया, मुझे बड़ा गर्व हुआ।”

इसके बाद एनडीटीवी की टीम राजस्थान के अलवर जिले के बहरोड़ शहर पहुंची। जहां अप्रैल, 2017 में पहलू खान नामक व्यक्ति की पीट-पीटकर भीड़ द्वारा हत्या कर दी गई थी। इस मामले में भी पुलिस ने 9 लोगों को गिरफ्तार किया था। फिलहाल सभी आरोपी जमानत पर बाहर हैं। एक आरोपी विपिन यादव से एनडीटीवी की टीम ने बात की। बातचीत के दौरान विपिन ने बताया कि हां, हम लोग डेढ़ घंटे तक पीटते रहे…..पहले 10 आदमी आए फिर 20 आदमी और फिर वहां करीब 500 लोग एकत्रित हो गए। विपिन ने ये भी खुलासा किया कि पीड़ितों के वाहन को उसने ही ओवरटेक करके रोका था और बाद में उनकी गाड़ी की चाबी निकाल ली थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App