ताज़ा खबर
 

राजस्थानः गोतस्करी के शक पर किसान की भीड़ ने कर दी पिटाई, मौत

भीड़ ने गाड़ी में गोवंश को देखकर बाबूलाल भील और पिंटू पर लाठियों, लातों से हमला करना शुरू कर दिया। भीड़ ने मारपीट के दौरान दोनों के मोबाइल भी छीन लिए।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में भीड़ ने गोतस्करी के शक में एक किसान को लाठी से पीट पीट कर मार डाला। किसान अपने खेती कार्य के लिए राजस्थान से गोवंश खरीद कर मध्यप्रदेश के झाबुआ ले जा रहे थे। लेकिन बीच रास्ते में ही राजस्थान-मध्यप्रदेश की सीमा पर भीड़ ने किसानों के पिकअप वैन को रोक लिया और उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। जिसमें एक किसान की मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में 19 लोगों को नामजद किया है और 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार देर रात मध्यप्रदेश के झाबुआ के रहने वाले बाबूलाल भील और पिंटू भील एक पिकअप वैन में राजस्थान से तीन गोवंश खरीदकर उसे अपने घर ले जा रहे थे। किसान अपनी खेती कार्य में गोवंश का इस्तेमाल करने के लिए ले जा रहे थे। लेकिन बीच रास्ते में चित्तौड़गढ़ जिले के रायती गांव के पास ग्रामीणों ने गोतस्करी के शक में पिकअप वैन को रोक लिया। 

पिकअप रोकने के बाद भीड़ ने उसमें मौजूद गोवंश को देखकर बाबूलाल भील और पिंटू पर लाठियों, लातों से हमला करना शुरू कर दिया। भीड़ ने मारपीट के दौरान दोनों के मोबाइल भी छीन लिए। बाद में मारपीट की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस दोनों घायलों को स्थानीय अस्पताल ले गई जहां डॉक्टरों ने बाबूलाल को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने एक और घायल पिंटू भील के बयान पर मुक़दमा दर्ज कर लिया। घायल पिंटू का इलाज स्थानीय अस्पताल में चल रहा है।

मामले की जानकारी मिलते ही जिले के सभी वरीय अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। सूचना मिलने पर उदयपुर आईजी सत्यवीर सिंह, कलेक्टर ताराचंद मीणा, एसपी राजेंद्र प्रसाद गोयल भी घटनास्थल पर पहुंचे। उदयपुर रेंज के आईजी सत्यवीर सिंह ने मॉब लिंचिंग की घटना को लेकर कहा कि इसकी जांच की जा रही है और किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। पुलिस ने इस मामले में 19 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने मृतक बाबूलाल भील के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है।

Next Stories
1 WhatsApp की सीक्रेट चैट दूसरों से ऐसे छिपाएं, ये है प्रोसेस
2 तीन महीने पहले ही चाचा हुए थे बागी, पापा का हवाला दे चिराग ने बचाई थी कुर्सी
3 एक लाख करोड़ से ज्‍यादा गंवाने के बाद अडानी ग्रुप ने किया अकाउंट फ्रीज होने की खबर का खंडन, ऐसा आया बयान
आज का राशिफल
X