ताज़ा खबर
 

पंजाबः BJP सांसद के क्षेत्र में ही लोगों ने लगा दिए ‘सनी देओल गुमशुदा’, जानिए क्या है पूरी कहानी

सनी देओल की उपस्थिति संसद सत्र में भी काफी कम रही है। संसद के पहले सत्र में वो 28 दिनों के लिए अनुपस्थित थे।

लोगों का कहना है कि सांसद अपने क्षेत्र में कभी नहीं आते हैं।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद सनी देओल की गुमशुदगी के पोस्टर लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गया है। दिलचस्प बात यह है कि सनी देओल की गुमशुदगी के यह पोस्टर उन्हीं के संसदीय क्षेत्र गुरदासपुर में लगाए गए हैं। पठानकोट रेलवे स्टेशन के पास ऐसे कई सारे पोस्टर लगाए गए हैं जिनमें सांसद सनी देओल को लापता बताया गया है। सनी देओल की गुमशुदगी के पोस्टर जगह-जगह चस्पा करने वाले लोगों का कहना है कि लोकसभा चुनाव गुजर जाने के एक साल बाद भी सनी देओल ने एक बार भी गुरदासपुर का दौरा नहीं किया है। आरोप यह भी है कि सनी देओल ने यहां विकास का कोई भी काम नहीं किया है।

जो पोस्टर यहां सड़कों पर लगाए गए हैं उनमें सनी देओल की तस्वीर लगाई गई है और लिखा गया है ‘गुमशुदा की तलाश।’ अभिनेता सनी देओल ने लोकसभा चुनाव के दौरान ही सियासत में कदम रखा था और पहली बार गुरदासपुर सीट से भारतीय जनता पार्टी के टिकट से चुनाव लड़े थे। 63 साल के अभिनेता ने इस चुनाव में कांग्रेस के सांसद सुनील जाखर को त्रिकोणीय मुकाबले में मात दी थी। इस सीट पर आम आदमी पार्टी ने भी अपना प्रत्याशी उतारा था।

सनी देओल इससे पहले उस वक्त विवाद में आए थे जब उन्होंने गुरप्रीत सिंह पालहेरी को अपने संसदीय क्षेत्र के लिए अपना प्रतिनिधि बताते हुए कहा था कि वो उनकी जगह सभी जरूरी मामलों को देखेंगे और अहम बैठकों में हिस्सा लेंगे। उस वक्त आलोचकों ने कहा था कि इससे यह पता चलता है कि सनी देओल को अपने संसदीय क्षेत्र से कोई जुड़ाव नहीं है।

सनी देओल की उपस्थिति संसद सत्र में भी काफी कम रही है। संसद के पहले सत्र में वो 28 दिनों के लिए अनुपस्थित थे। रिकॉर्ड्स के मुताबिक उन्होंन सत्र के दौरान सिर्फ 9 बैठकों में हिस्सा लिया था। मायानगरी से सियासत की दुनिया में कदम रखने वाले सनी देओल अपने परिवार के तीसरे सदस्य हैं। उनके पिता धर्मेंद्र भी बीजेपी से सांसद रह चुके हैं। धर्मेंद्र बीकानेर से सांसद रहे हैं। इसके अलावा उनकी सौतेली मां हेमा मालिनी भी सांसद रही हैं।

अब भी चुनाव जीतने के बाद सनी देओल अपने संसदीय क्षेत्र में नजर नहीं आ रहे हैं लेकिन लोकसभा चुनाव के दौरान सनी देओल ने भाजपा के लिए हरियाणा और झारखंड में धुंआधार प्रचार किया था। करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के वक्त वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ भी नजर आए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X