ताज़ा खबर
 

नजीब की मां ने पीएम को ललकारा, बोलीं- पिचक जाएगा 56 इंच का सीना

बेटे की सलामती के लिए फातिमा कोर्ट के भी चक्कर काट चुकी हैं। उन्होंने बेटे के लिए गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की थी। राजनाथ ने नजीब की मां को आश्वासन भी दिया था।

Author January 13, 2019 12:41 PM
नजीब अहमद की मां फातिमा नफीस (फोटो सोर्श : Indian Express)

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के छात्र नजीब जंग को गायब हुए दो साल से ज्यादा हो चुके हैं। नजीब की मां फातिमा नफीस अपनी पथराई आंखों से उसके लौटने का इंतजार कर रही हैं। फातिमा की आंखें जितना अपने बेटे को देखने के लिए तरह रही हैं, उतना ही गुस्सा उनमें केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ है। नजीब 16 अक्टूबर 2016 से लापता है। इस लंबे वक्त में नजीब की मां के अंदर सरकार के लिए नाराजगी बढ़ती ही जा रही है। सरकार से खफा नजीब की मां ने शनिवार को ललकारते हुए कहा कि, ’56 इंच का सीना पिचक जाएगा’।

मुम्बई में हज हाउस की एक सभा को संबोधित करते हुए फातिमा नफीस ने कहा, नरेंद्र मोदी सरकार ने उनके दिमाग को कम से कम एक भावना निकाल दी, वो है डर। मोदी राज में एक अच्छी बात यह हुई है कि हमारे अंदर अब कोई डर नहीं है। उन्होंने कहा, मैंने नरेंद्र मोदी से एक बार मिलने की हिमाकत करना चाहती हूं। वह मेरी आंखों में देखें और कहें कि मेरे बेटे के साथ कुछ भी गलत नहीं हुआ। उन्होंने आगे कहा कि, ‘यह सरकार अब सत्ता में लौट के नहीं आएगी। 56 इंच का सीना पिचक जाएगा’।

उत्तर प्रदेश के बदायूं का रहने वाला नजीब अहमद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के सदस्यों से परिसर में कथित झगड़े के बाद 16 अक्तूबर से लापता हो गया था। नफीस की मां बेटे को खोजने के लिए हर चौखट पर माथा टेक चुकी हैं। दिल्ली पुलिस फातिमा के बेटे को खोजने में नाकाम रही। यहां तक की सीबीआई भी इस मामले में हार मान चुकी है। नजीब के लापता होने की जांच करने वाली केंद्रीय जांच ब्यूरो ने अक्टूबर 2018 में फाइल को बंद कर दिया।

बेटे की सलामती के लिए फातिमा कोर्ट के भी चक्कर काट चुकी हैं। उन्होंने बेटे के लिए गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की थी। राजनाथ ने नजीब की मां को आश्वासन दिया था कि वह मामले में दखल देंगे और परिवार की पूरी सहायता की जाएगी। नजीब के परिवार के साथ गए बदायूं से सपा सांसद धमेंद्र यादव ने भी कहा था कि गृहमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया है कि उसे जल्द से जल्द तलाश करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App