ताज़ा खबर
 

‘चीन ने 6 महीने में नहीं की कोई घुसपैठ, पाकिस्तान ने किया 47 बार दुस्साहस’, सरकार का राज्यसभा में बयान

गृह मंत्रालय के मुताबिक, पिछले तीन सालों में जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने 582 आतंकी मार गिराए, जबकि इस दौरान 46 आतंकी गिरफ्तार किए गए।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | September 16, 2020 4:04 PM
india, china, lacभारत-चीन के बीच पिछले चार महीनों से एलएसी पर तनाव जारी है। (फोटो- AP)

भारत और चीन के बीच लद्दाख स्थित एलएसी पर पिछले चार महीने से तनाव जारी है। इस बीच चीनी सेना पर कई बार घुसपैठ की कोशिशों के आरोप लगा चुकी है। हालांकि, गृह मंत्रालय ने बुधवार को राज्यसभा में लिखित जवाब में कहा कि भारत-चीन एलएसी पर पिछले छह महीने में घुसपैठ की कोई घटना नहीं हुई है।

दरअसल, मंत्रालय से पूछा गया था कि क्या चीन और पाकिस्तान की तरफ से बीते छह महीनों में घुसपैठ की घटनाएं बढ़ी हैं। इस पर दाखिल जवाब में मंत्रालय ने कहा कि चीन की तरफ से घुसपैठ नहीं हुई है। हालांकि, बताया गया है कि पाकिस्तान की ओर से फरवरी 2020 के बाद से अब तक घुसपैठ की 47 कोशिशें हो चुकी हैं। केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय ने बताया कि पिछले तीन सालों में पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ के कुल 594 प्रयास हुए, पर इनमें 312 नाकाम रहे थे।

गृह मंत्रालय की तरफ से यह बयान तब आया है, जब हाल ही में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लोकसभा में बयान दिया था कि चीन ने भारत की 38 हजार वर्ग किमी जमीन पर लद्दाख में कब्जा कर रखा है। इसके अलावा वह अरुणाचल प्रदेश की 90 हजार वर्ग किमी क्षेत्र पर भी दावा करता है। राजनाथ सिंह ने कहा था कि चीन का भारत के 5180 वर्ग किमी के उस क्षेत्र पर भी कब्जा है, जिसे पाकिस्तान ने 1963 में साइनो-पाकिस्तान बाउंड्री एग्रीमेंट के तहत अपने कब्जे वाले कश्मीर से चीन को दे दिया था।

जब केंद्र से पूछा गया कि वह इन घुसपैठों को रोकने के लिए क्या कर रहा है, तो अमित शाह के नेतृत्व वाले मंत्रालय ने बताया कि सीमापार से होने वाली घुसपैठ को रोकने के लिए सरकार ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कई परतों में जवान तैनात किए हैं। इसके अलावा सीमाई क्षेत्रों को लेकर खुफिया जानकारी भी बढ़ाई गई है। साथ ही साथ बॉर्डर फेंसिंग और तकनीक की मदद से घुसपैठियों के खिलाफ कदम उठाए जा रहे हैं। एक अन्य सवाल के जवाब में गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि पिछले तीन सालों में जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने 582 आतंकी मार गिराए, जबकि इस दौरान 46 आतंकी गिरफ्तार किए गए। 2018 से लेकर इस साल की 8 सितंबर तक जम्मू-कश्मीर में 76 सैनिक शहीद हुए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जया बच्चन का समर्थन कर बोली शिवसेना, ड्रग्स के आरोप लगाने वालों का हो डोप टेस्ट
2 बाबरी मस्जिद विध्वंस: 30 सितंबर को कोर्ट सुनाएगा फैसला, आडवाणी समेत ये दिग्गज नेता हैं आरोपित
3 सिंधिया समर्थक मंत्री ने कहा था, बच्चों को मिड मील में देंगे अंडा, शिवराज का ऐलान- अंडा नहीं दूध देंगे
राशिफल
X