ताज़ा खबर
 

नए सीबीआई निदेशक के लिए लिस्ट में गृह मंत्रालय ने लिख दिए रिटायर्ड अफ़सरों के भी नाम, 24 को बैठक करेंगे पीएम मोदी

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में नए सीबीआई निदेशक की नियुक्त करने वाली कमेटी को 100 से अधिक आईपीएस अफसरों की सूची दी गई है। इसकी मीटिंग 24 मई को होनी है।

Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: May 14, 2021 10:04 AM
गृह मंत्रालय ने गलती से सूची में उन अफसरों का नाम भी डाल दिया जो रिटायर हो चुके हैं। (express file photo)

CBI यानी सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन के नए निदेशक की नियुक्ति को लेकर एक लिस्ट बनाई गई है। इस लिस्ट में उन आईपीएस अफसरों के नाम है, जिन्हें निदेशक नियुक्त किया जा सकता है। ऐसे में गृह मंत्रालय ने गलती से इस सूची में उन अफसरों का नाम भी डाल दिया जो रिटायर हो चुके हैं।

द इंडियन एक्सप्रेस में छपे कॉलम दिल्ली कॉन्फिडेंशियल के मुताबिक प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में नए सीबीआई निदेशक की नियुक्त करने वाली कमेटी को 100 से अधिक आईपीएस अफसरों की सूची दी गई है। इसकी मीटिंग 24 मई को होनी है। इस कमेटी में सीजेआई एनवी रमना और विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी को भी शामिल किया गया है। कमेटी को सौपी गई लिस्ट में दो अफसर ऐसे हैं जो पहले ही रिटायर हो चुके हैं।

सूची में सबसे ऊपर यूपी-कैडर के आईपीएस अधिकारी एपी माहेश्वरी का नाम था। जिन्होंने फरवरी में रिटायर होने से पहले सीआरपीएफ डीजी का पद संभाला था। उनके बाद मध्य प्रदेश -कैडर अधिकारी विजय कुमार सिंह का नाम था। जो इस साल मार्च में रिटायर हो चुके हैं।

गृह मंत्रालय के सूत्रों ने इस सूची को तैयार किया है। सूत्रों का कहना है कि इस लिस्ट को जनवरी में तैयार किया गया था। जब सीबीआई निदेशक आर के शुक्ला रिटायर हुए थे। उसके बाद से अभी तक इसे अपडेट नहीं किया गया है। शायद इसी लिए कुछ रिटायर्ड अफ़सरों के इसमें शामिल हैं।

सीबीआई निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला 2 फरवरी को रिटायर हो गए थे। तब सरकार ने नए डायरेक्टर की नियुक्ति करने के बजाय प्रवीण सिन्हा को अंतरिम डायरेक्टर नियुक्त किया था। सीबीआई निदेशक की स्थाई नियुक्ति को लेकर मामला सुप्रीम कोर्ट में चला गया था। अब इसकी मीटिंग पीएम के नेतृत्व में 24 मई को होनी है।

Next Stories
1 कोरोना टीका विदेश भेजने के प्रश्न को BJP ने बताया बेवकूफाना, “फ़ैक्ट शीट” में लिखा- 17 करोड़ डोज भारतीयों को दिए, इसका महज एक-तिहाई निर्यात किया
2 आत्मनिर्भर भारत से संभव नहीं कोरोना टीकाकरण: फाइजर, मॉडर्ना, जॉनसन से संपर्क में सरकार, पर वो अभी बात के लिए भी नहीं तैयार
3 कोरोनाः मोदी सरकार ने टीके पर 1 पैसा न किया खर्च, सर्टिफिकेट पर फोटो छपवाने की चतुराई की खुल गई है पोल- रवीश कुमार की टिप्पणी
ये पढ़ा क्या?
X