ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार के मंत्री ने शुरू किया ‘एक दीया राम मंदिर के नाम पर’ अभियान, शामिल हुए कई मंत्री

मोदी सरकार के मंत्री विजय गाेयल ने 'एक दीया राम मंदिर के नाम पर' अभियान की शुरूआत की। उन्होंने देशवासियों से भी ऐसा कर राम मंदिर निर्माण के लिए एकजुटता प्रदर्शित करने की अपील की।

Author November 4, 2018 2:07 PM
केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने ‘एक दीया राम मंदिर के नाम पर’ अभियान शुरू किया। (Photo: Twitter@VijayGoelBJP)

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर सियासी हलचल काफी बढ़ गई है। भाजपा द्वारा ‘एक दीया राम मंदिर के नाम पर’ अभियान शुरू की गई है। दिल्ली में केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने पीपी चौधारी, किरेन रिजिजू, शिव प्रसाद शुक्ला सहित सैंकड़ों लोगों के साथ दीया जलाया। उन्होंने एक और ट्वीट कर कहा था, “5000 दीया जलाया और सभी देशवासियों से अपील करते हैं कि वे इस दिवाली हैशटैग ‘JalaaoEkDiyaRamMandirKeNaam’ ‘जलाओएकदीयाराममंदिरकेनाम’ के साथ दीया जलाएं और देश में राम मंदिर निर्माण के लिए एकजुटता प्रदर्शित करें।”

इसके बाद उन्होंने एक और ट्वीट कर कहा, “अभियान शुरू हो चुका है। मैं विशेष रूप से किरेन रिजिजू, पीपी चौधरी, शिव प्रसाद शुक्ला सहित अपने हजारों दोस्तों को धन्यवाद देता हूं, जो मेरे साथ दीया जलाने के अभियान में शामिल हुए और अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए एकजुटता दिखाया। मैं मेरे सभी मित्रों और हितैषियों ह्र्दय से आभार व्यक्त करता हूँ जिन्होने मेरे निवास स्थान पर पहुंच कर श्री राम के भव्य मंदिर के निर्माण के लिए दीया प्रज्वलित किया।” केंद्रीय मंत्री द्वारा शुरू किया गया यह अभियान 7 नवंबर तक चलेगा।

केंद्रीय मंत्री पीपी चौधरी ने कहा, “राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए। यह मामला फिलहाल सुप्रीम कोर्ट में है। हम जल्द ही इसका फैसला चाहते हैं। मैं सरकार के बारे में नहीं कह सकता, लेकिन मेरे व्यक्तिगत विचार यह है कि यदि न्याय में देरी होती है तो एक कानून बनना चाहिए।” वहीं, इससे पहले शनिवार (3 नवंबर) को राजस्थान के बीकानेर में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी अादित्यनाथ ने कहा कि, “इस बार एक दीया भगवान राम के नाम से जलाइए। जल्द ही वहां काम शुरू होगा। हमें दिवाली के बाद से इसे करना है।”

शनिवार को ही अखिल भारतीय संत समिति ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के मसले पर अदालत के फैसले का वह इंतजार नहीं कर सकती है, इसलिए केंद्र सरकार को मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाना चाहिए। मंदिर निर्माण को लेकर रणनीति बनाने के लिए राष्ट्रीय राजधानी में आयोजित दो दिवसीय सम्मेलन ‘धर्मादेश’ में 3,000 से अधिक साधुओं ने हिस्सा लिया। समिति ने कहा कि देश में प्रबल जन-भावना है कि मंदिर का निर्माण शीघ्र हो।  इससे एक दिन पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए 1992 की तरह फिर नया जनांदोलन छेड़ने का संकेत दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X