ताज़ा खबर
 

विश्व परिक्रमा, बदतर हो सकती है कोविड-19 से स्थिति : बिल गेट्स

अमेरिका में हाल ही में संक्रमण के नए मामलों, इससे होने वाली मौत और अस्पताल में भर्ती हो रहे मरीजों की संख्या काफी बढ़ी है। विश्व को 2015 में ऐसी महामारी को लेकर आगाह करने वाले गेट्स ने रविवार को कहा कि मुझे लगता है कि अमेरिका इससे बेहतर तरीके से निपट सकता था।

Microsoftबिलगेट्स । फाइल फोटो।

माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स ने आगाह किया है कि आने वाले चार से छह महीनों में कोरोना वायरस का प्रकोप बेहद अधिक हो सकता है। उनका ‘बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन’ कोरोना विषाणु संक्रमण टीके को बनाने और उसे वितरित करने के अभियान का हिस्सा है।

अमेरिका में हाल ही में संक्रमण के नए मामलों, इससे होने वाली मौत और अस्पताल में भर्ती हो रहे मरीजों की संख्या काफी बढ़ी है। विश्व को 2015 में ऐसी महामारी को लेकर आगाह करने वाले गेट्स ने रविवार को कहा कि मुझे लगता है कि अमेरिका इससे बेहतर तरीके से निपट सकता था।

‘बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन’ के सह-अध्यक्ष ने ‘सीएनएन’ से कहा कि बेहद दुख की बात है कि, आने वाले चार से छह महीनों में वैश्विक महामारी का प्रकोप बेहद अधिक हो सकता है। आइएचएमई (स्वास्थ्य मैट्रिक्स और मूल्यांकन संस्थान) के अनुमान के अनुसार और 2,00,000 से अधिक लोगों की मौत हो सकती है। अगर हम मास्क पहनने जैसे नियमों का पालन करते हैं तो, मौत के ये मामले कम हो सकते हैं। अमेरिका में अभी तक कोरोना से 2,90,000 लोगों की मौत हो चुकी है।

गेट्स ने कहा कि 2015 में जब मैंने इसका अनुमान लगाया था, मैंने मृतकों की संख्या इससे अधिक बताई थी। इसलिए, विषाणु इससे अधिक घातक हो सकता था। हमें सबसे खराब स्थिति का सामना नहीं करना पड़ा। लेकिन अमेरिका और पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था पर पड़े इसके असर ने मुझे काफी चौंकाया, जो उससे कई अधिक है, जिसका मैंने पांच साल पहले अनुमान लगाया था।

उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि दुनिया की अर्थव्यवस्था चलती रहे। हम मौतों को कम से कम करना चाहते हैं। टीके को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर साझा नहीं करने की मंशा अमेरिका के लिए बहुत ही हानिकारक और बड़ी गलती होगी। इसलिए हमें टीके को बनाने की तकनीक को बढ़ाना है। अगले कुछ महीने में और टीकों को मंजूरी मिलेगी जिससे इनके उत्पादन को बढ़ाना आसान होगा। गेट्स का फाउंडेशन टीका बनाने के लिए किए जा रहे कई अनुसंधानों की वित्तीय मदद कर रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शोध: भारतीय वैज्ञानिकों ने खोजा रक्त कैंसर का इलाज
2 सम-सामयिक,माउंट एवरेस्ट : क्यों और कैसे बढ़ गई ऊंचाई
3 एम्‍स में नर्सों की हड़ताल से मरीज परेशान
ये पढ़ा क्या?
X