बोले मेघालय गवर्नर तथागत राय- मुसलमानों के बीच कई हिंदू-विरोधी हैं, पर सबसे खतरनाक विरोधी हिंदुओं के बीच ही हैं

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देशभर में हो रहे विरोध पर तथागत राय ने कहा कि यह जानबूझकर खड़ा किया, राजनीति से प्रेरित विरोध है और यह धीरे-धीरे खत्म हो रहा है। उन्होंने विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई मौतों को दुर्भाग्यपूर्ण बताया।

Tathagata Roy, Meghalaya Governor, CAA protest, protest agianst caa, muslims, anti hindu, anti hindus, I am anti-anti-Hindus, india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindi
मेघालय के गवर्नर तथागत राय अभी छुट्टी पर चल रहे हैं। (एक्सप्रेस फोटोः पार्था पॉल)

मेघालय के गवर्नर तथागत राय का कहना है कि भले ही उनके पास मुस्लिम विरोधी होने का कारण है लेकिन वह मुस्लिम विरोधी नहीं हैं। राय ने कहा मुसलमानों के बीच ही कई हिंदू विरोधी हैं लेकिन सबसे खतरनाक विरोधी हिंदुओं के बीच ही हैं। उन्होंने कहा कि कि बांग्लादेश के हिंदुओं को मुसलमान नहीं होने के कारण देश से बाहर निकाला जा रहा है।

इसके बावजूद मैं मुसलमान विरोधी नहीं हूं। तथागत राय ने कहा कि मेरे पसंदीदा बंगाली गद्य लेखक सैयद मुजतबा अली हैं और अभी मेरी पसंदीदा गायिका रिजवाना चौधरी बन्नया हैं। उन्होंने कहा कि मैं हिंदुओं का विरोध करना वाला एंटी-एंटी हिंदू हूं। मुस्लिमों के बीच कई हिंदू विरोधी हैं लेकिन इससे भी बुरे हिंदुओं के बीच हिंदु विरोधी हैं।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देशभर में हो रहे विरोध पर तथागत राय ने कहा कि यह जानबूझकर खड़ा किया, राजनीति से प्रेरित विरोध है और यह धीरे-धीरे खत्म हो रहा है। नागरिकता संशोधन कानून सदन के दोनों सदनों से पारित हो गया है और कोई भी राजनीतिक दल इस कानून को नहीं रोक सकता है क्योंकि इसे लोगों का समर्थन प्राप्त नहीं है।

गवर्नर ने प्रदर्शन के दौरान हुई मौतों को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि जब लोग देश के खिलाफ होते हैं तो कुछ चीजों को रोका नहीं जा सकता है। मालूम हो कि गवर्नर तथागत राय अपने ट्वीट को लेकर विवादों में रहे थे। राय ने ट्वीट किया था कि दो चीजों को कभी नहीं भुलाया जा सकता है पहला जब देश धर्म के नाम पर विभाजित हुआ था।

[bc_video video_id=”6117317813001″ account_id=”5798671092001″ player_id=”JZkm7IO4g3″ embed=”in-page” padding_top=”56%” autoplay=”” min_width=”0px” max_width=”640px” width=”100%” height=”100%”]

उनका दूसरा ट्वीट था कि लोकतंत्र अनिवार्य रूप से विभाजनकारी है, अगर आप नहीं चाहते तो उत्तर कोरिया चले जाएं। इस ट्वीट के बारे में राय ने कहा कि वह अभी भी अपनी कही गई बात पर कायम है। ट्वीट पर विवाद बढ़ने के बाद से वह अवकाश पर चले गए थे। अवकाश के बारे में राय ने कहा कि गवर्नर हर साल 20 छुट्टियां ले सकता है यदि मैंने साल के अंत में ली हैं तो आप इसकी व्याख्या अपनी तरह से कर सकते हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट